लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को राज्य के 56 हजार 754 उद्यमियों को एकमुश्त दो हजार दो करोड़ के लोन बांटे. केंद्र से आर्थिक पैकेज एलान के बाद यूपी पहला राज्य है, जिसने लॉकडाउन अवधि में भी इतनी बड़ी धनराशि का लोन दिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक क्लिक पर ऑनलाइन दो हजार दो करोड़ रुपया का लोन देकर रोजगार संगम ऑनलाइन मेले की व्यापक शुरूआत की है. 56 हजार 754 उद्यमियों को एक क्लिक पर 2 हजार 2 करोड़ का लोन दिया गया है. इस दौरान इन 56 हजार 754 इकाईयों से दो लाख लोगों को रोजगार की गारंटी भी मिली है. Also Read - PM Svanidhi scheme: बिना गारंटी लोन दे रही सरकार, समय पर पैसा चुकाने पर आपको मिलेगी सब्सिडी

लोक भवन में टीम-11 की बैठक से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने सूक्ष्म, लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्योग एवं निर्यात प्रोत्साहन तथा खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, प्रमुख सचिव नवनीत सहगल तथा अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में लाभार्थियों को ऋण का चेक प्रदान किया. इस दौरान योगी ने कहा, “हमारे कामगार और श्रमिक हमारी ताकत और पूंजी हैं. हम इनके श्रम और हुनर का हर संभव उपयोग कर उप्र को देश और दुनिया का मैन्यूफैक्च रिंग हब बनाएंगे. उप्र के माथे पर पलायन को जो कलंक है उसे हरदम के लिए मिटाने को हमारे लिए यह बेहतरीन मौका है. दूसरे प्रदेश से आने वाले श्रमिकों का प्रदेश के नवनिर्माण में संभव उपयोग हो इसके लिए हर श्रमिक की दक्षता का रिकार्ड भी तैयार किया जा रहा है.” Also Read - PM Svanidhi scheme: सरकार दे रही बिना गारंटी लोन, ऐसे करें अप्लाई, मिलेंगे और भी कई फायदे

मुख्यमंत्री ने कहा कि आगे दीपावली का पर्व है. इस दौरान पूरे देश में चीन से आने वाली गौरी-गणेश की मूर्तियां बड़े पैमाने पर बिकती हैं. हमारी कोशिश रहे कि इस बार स्थानीय इकाईयां उसका विकल्प दें. टेराकोटा के सामान बनाने वाले गोरखपुर के उद्यमियों में यह हुनर है. वह चीन से भी बेहतर गुणवत्ता की मूर्तियां बना सकते हैं. इसके लिए उनकी हर संभव मदद की जाए. उन्होंने कहा, “उप्र का एमएसएमई सेक्टर भारत में सबसे बड़ा है. इस सेक्टर में कई ऐसी इकाईयां ने जिनके उत्पाद की पूरे देश और दुनिया में धूम है. जरूरत इनको अवसर मिलने की है. कोरोना महामारी के दौरान ही यूपी में पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्शन इक्यूपमेंट) की 26 नई इकाईयां लग गयीं. ऐसे और भी उदाहरण हैं.” Also Read - अब जरूरत है कि देश में ऐसे प्रोडक्‍ट बनें जो मेड इन इंडिया हों, मेड फॉर वर्ल्‍ड हों: PM मोदी