लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि पुलिस चालान काटने को लक्ष्य न बनाए बल्कि वाहन चालकों को जागरूक करना उनकी जिम्मेदारी है. उन्होंने बुधवार को सड़क सुरक्षा सप्ताह की शुरूआत के अवसर पर यह बात कही. उन्होंने 5 कालीदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास से सड़क सुरक्षा रैली का झंडा दिखा कर शुभारम्भ भी किया.

‘लब पे आती है दुआ…’ कविता गा रहे थे बच्चे, निलंबित हुए हेडमास्टर, जानिए क्या है पूरा मामला

मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवहन विभाग के प्रयास सार्थक रहे हैं और सकारात्मक परिणाम भी दिख रहे हैं लेकिन अभी भी बहुत कुछ करना बाकी है. हम सभी को दो पहिया वाहन चलाते समय हेलमेट और चार पहिया वाहन चलाते समय सीट बेल्ट का उपयोग करना चाहिए. नशे की हालत में गाड़ी नहीं चलानी चाहिए. सड़क सुरक्षा और यातायात के नियमों का पालन करना चाहिए.

अयोध्या केस: योगी सरकार ने 30 नवंबर तक रद्द की फील्ड में तैनात अफसरों की छुट्टियां

उन्होंने कहा, आमजन की सहभागिता के बिना इस प्रकार के कार्यक्रम सफल नहीं हो सकते. सड़क सुरक्षा के अच्छे स्लोगन के साथ अगर हम आगे बढ़े तो परिणाम और बेहतर हो सकते हैं. सड़क सुरक्षा रैली में 25 ट्रैफिक पुलिस बाइकर, 10 विंटेज कार, 100 बाइकर, एनसीसी के 100 कैडेट और विभिन्न स्कूलों के 700 छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया.

(इनपुट-भाषा)