गोरखपुर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को यहां कहा कि उनकी सरकार प्रदेश में पीएसी की तीन महिला बटालियन का गठन करेगी, और इसमें गोरखपुर के साथ ही लखनऊ और बदायूं शामिल हैं. योगी ने गोरखपुर बटालियन का रविवार को शिलान्यास किया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस ट्रेनिंग स्कूल एवं प्रदेश की पहली पीएसी महिला बटालियन के परिसर की नींव रखी. Also Read - UP Lockdown Latest Update: यूपी में 24 मई तक के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, जल्द आदेश होंगे जारी

इस अवसर पर उन्होंने कहा, “लगभग 25 वर्षो से गोरखपुर का पुलिस ट्रेनिंग स्कूल जमीन के अभाव में अपना स्वयं का ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट नहीं शुरू कर पा रहा था. आज उत्तर प्रदेश पुलिस के कार्मिकों को जमीन मिलने के साथ ही भवन का भी शिलान्यास किया जा रहा है.” Also Read - UP: CM बनने के बाद पहली बार AMU पहुंचे योगी आदित्य नाथ, कोरोना पर की अहम बैठक

पीएसी की यह बटालियन महिला सशक्तिकरण की दिशा में उठाया गया महत्वपूर्ण कदम है. इस बटालियन के जरिए प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा का एक बेहतर माहौल बनेगा. Also Read - योगी सरकार ने बदला फैसला: UP में अब कोई भी ले सकता है Corona Vaccine, आधार कार्ड जरूरी नहीं

योगी ने कहा, “पिछली सरकारों ने प्रदेश की सुरक्षा-व्यवस्था के साथ खिलवाड़ किया था. 2017 में जब भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश में सत्ता में आई, तो उस समय उत्तर प्रदेश पुलिस में डेढ़ लाख पद खाली थे. पीएसी की 54 कंपनियां समाप्त कर दी गई थीं. हमारी सरकार बनने के बाद इन भर्तियों को स्ट्रीमलाइन किया गया. पुलिस ट्रेनिंग की क्षमता को 6 हजार से बढ़ाकर 12 हजार किया गया.”

उन्होंने कहा, “उत्तर प्रदेश पुलिस के इतिहास में पहली बार पुलिस के भर्ती की ट्रेनिंग के लिए बीएसएफ , सीआरपीएफ , सीआईएसएफ , एसएसबी और अन्य राज्यों के ट्रेनिंग केंद्रों की सहायता ली गई, जिसके जरिए हम समयबद्घ और पारदर्शी तरीके से पूरी ईमानदारी के साथ अब तक 85 हजार भर्ती प्रक्रिया को पूर्ण कर चुके हैं. शेष भर्ती प्रक्रिया को हम बहुत जल्द पूरी कर लेंगे.”