लखनऊ: नवाबों की नगरी लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित दो दिवसीय आम महोत्सव का सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुभारंभ किया. मैंगो मैन के नाम से मशहूर पद्मश्री से सम्मानित हाजी कलीमुल्लाह खान के मलीहाबाद नर्सरी में तैयार ‘योगी आम’  प्रदर्शनी के आकर्षण का केंद्र रहा. इस महोत्सव में सात सौ से ज्यादा प्रजातियों के आम का प्रदर्शन किया जा रहा है.Also Read - Cryptocurrency Bill: क्रिप्‍टो के निवेशकों के लिए बुरी खबर, इसमें निवेश करने वालों को होगी जेल, नहीं मिलेगी जमानत: रिपोर्ट

Also Read - Ladki Ka Dance: लड़की ने 'मैं शराबी' गाने पर किया गजब का डांस, दूसरी ने तो मचा दिया धमाल | देखिए ये Video

लखनऊ में लीजिए सात सौ किस्म के आमों का लुत्फ, इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में राज्य स्तरीय आम महोत्सव का आयोजन Also Read - Katrina Kaif On Divorce: 14 साल की उम्र में ही हो गया था कैटरीना कैफ के माता-पिता का तलाक, कहा 'नहीं चाहती मेरे बच्चों को'

केंद्र और राज्य सरकार किसानो के लिए कार्य कर रही

उद्घाटन के अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने आम किसानो को बधाई दी और उन्हें सम्मानित किया. सीएम ने कहा, किसानों की आय दुगनी करने के लिए बधाई, किसानों के चेहरे पर खुशी लाने के लिए बधाई, आम बागवानी से जुड़े किसानों को सम्मानित करना मुझे बहुत अच्छा लगा. उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 के पहले और वर्तमान स्थिति में काफी बदलाव आ गया है. आम का उत्पादन बढ़ा है. सीएम योगी के मुताबिक किसानों को अभी और प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है और राज्य व केंद्र की मोदी सरकार किसानों के लिए काम कर रही है. सीएम ने कहा किसानों ने अपनी मेहनत से अपना सम्मान बनाया है. उन्होंने कहा, 40 लाख मीट्रिक टन आम की पैदावार करने के बावजूद किसान इसकी ब्रांडिंग नहीं कर पाते हैं. उन्होंने कहा सरकार किसानों का सहयोग कर उन्हें आगे बढाने की दिशा में कार्य कर रही है.

आम उत्पादन में उत्तर प्रदेश नंबर -1

बिजली के मुद्दे पर बोलते हुए सीएम ने कहा कि पहले सिर्फ 4 जिलों में बिजली आती थी लेकिन अब गांव में 18 घंटे बिजली देने का काम उनकी सरकार ने किया. किसानो को समर्थन मूल्य से ज़्यादा भुगतान कराया गया, सीएम ने कहा आम उत्पादन में उत्तर प्रदेश नंबर वन है. इस अवसर पर सीएम ने उद्यान विभाग को भी आम किसानों को लेकर नई रणनीति तैयार करने का निर्देश दिया. सीएम ने गन्ना किसानो और आलू उत्पादकों पर भी बोलते हुए कहा कि सरकार ने गन्ना किसानों का बकाया भुगतान किया.

उन्होंने कहा ये महोत्सव जागरूकता का सबसे बड़ा माध्यम है ऐसे फेस्टिवल जनपद स्तर पर भी होने चाहिए. यूपी पहला प्रदेश हैं जहां आलू का समर्थन मूल्य मिला, 22 जून तक चीनीं मिले चलीं. किसान ही प्रदेश की समृद्धि का माध्यम है. आम महोत्सव के उद्घाटन के अवसर पर परिवार एवं कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, वन एवं पर्यावरण मंत्री दारा सिंह चौहान और मंत्री स्वाति सिंह के अतिरिक्त अन्य कई गणमान्य लोग भी मौजूद रहे. प्रदर्शनी में आमों की 725 प्रजातियों को प्रस्तुत किया गया जिनका सीएम योगी ने निरीक्षण किया.