लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मताधिकार देने वाले संविधान पर हमें गर्व होना चाहिए. हम अपने अधिकारों की बात तो करते हैं, लेकिन हमें दायित्व भी समझने चाहिए. मुख्यमंत्री रविवार को अवध शिल्पग्राम में आयोजित उत्तर प्रदेश दिवस के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि आज हमारा देश संविधान लागू करने के 70 वर्ष पूर्ण कर रहा है. भारत के संविधान ने हमें बहुत कुछ दिया है. इसलिए हमें अपने संविधान पर गौरव की अनुभूति करनी चाहिए. Also Read - Film City in UP: यूपी सरकार का ऐलान, राज्य के इन क्षेत्रों में बनेगी फिल्म सिटी, मिलेगा रोजगार को बढ़ावा

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश दिवस के इस तीन दिवसीय आयोजन में लखनऊ ही नहीं, बल्कि प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों के कलाकारों को मंच प्राप्त हुआ. साथ ही प्रदेश के कोने-कोने से लोग यहां प्रदर्शनी देखने भी आए. योगी ने कहा कि अगर हर व्यक्ति ईमानदारी से अपने-अपने क्षेत्र में अपने-अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर ले, तो समाज और राष्ट्र का कल्याण हो सकता है. हम सब बहुत सारे लोगों के चेहरों पर खुशहाली ला सकते हैं. उन्होंने कहा कि देश और दुनिया को बहुत कुछ हम उत्तर प्रदेश के माध्यम से दे सकते हैं. इसके लिए उत्तर प्रदेश की 23 करोड़ जनता को ईमानदारी के साथ अपने संवैधानिक दायित्वों का निर्वहन करना होगा. Also Read - Sarkari Naukri in UP: योगी सरकार का बड़ा फैसला, 3 महीने में भरे जाएंगे रिक्त पड़े सरकारी पद, 6 महीने के अंदर मिलेगा ज्वॉइनिंग लेटर

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पहले छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति के लिए दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते थे. अब हमारी सरकार ने यह व्यवस्था कर दी है कि छात्रवृत्ति की पहली किस्त छात्र-छात्राओं के खाते में 2 अक्टूबर और दूसरी किस्त गणतंत्र दिवस के दिन चली जाए. इसीके तहत आज इस मंच से प्रदेश के 56 लाख 66 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं के खाते में छात्रवृत्ति की धनराशि डीबीटी के माध्यम से भेजी गई है. Also Read - Recruitment Agency in UP: सीएम योगी का ऐलान, भारत सरकार की तर्ज पर भर्ती परीक्षाओं के लिए बनेगी एक एजेंसी