लखनऊ/अयोध्या : भारत और नेपाल के बीच आपसी सदभाव को बढ़ाने और पड़ोसी देश के साथ राजनीतिक और कूटनीतिक रिश्तों को मजबूती देने की दिशा में भारत के पीएम नरेंद्र मोदी और नेपाल के पीएम ओली ने शुक्रवार को संयुक्त रूप से जनकपुर से अयोध्या के बीच मैत्री बस सेवा की शुरुआत की. शुक्रवार को नेपाल के जनकपुर से 34 यात्रियों को लेकर रवाना हुई ये बस शनिवार को अयोध्या पहुंच गई, जहां उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने रामकथा पार्क में जनकपुर-अयोध्या पहली मैत्री बस का भव्य स्वागत किया.

मैत्री बस के स्वागत समारोह में सीएम योगी

मैत्री बस के स्वागत समारोह में सीएम योगी

Ayodhya: Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath received the first bus of Indo-Nepal bus service from Janakpur to Ayodhya. The service was inaugurated by PM Modi in Nepal’s Janakpur, yesterday. pic.twitter.com/8e7RJQhsCs

— ANI UP (@ANINewsUP) May 12, 2018

भारतीय सीमा में प्रवेश पर बीएसएफ के अधिकारीयों ने किया स्वागत
शुक्रवार को नेपाल से चली  मैत्री बस देर रात 01.50 मिनट पर भारतीय सीमा के भिठामोड पहुंची, वहां सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों ने बस का स्वागत कर उसे आगे के लिए रवाना किया. अपनी दो दिवसीय नेपाल यात्रा के दौरान जनकपुर-अयोध्या के बीच मैत्री बस सेवा के शुभारम्भ पर पीएम मोदी ने कहा कि भारत और जनकपुर का नाता अटूट है. पीएम ने जनकपुर मंदिर में दर्शन  भी किया इस अवसर पर उन्होंने कहा कि वो सौभाग्यशाली हैं, जो माता जानकी के चरणों में आने का मौका मिला. पीएम ने कहा कि इस बस के जरिए जनकपुर और अयोध्या को जोड़ा जा रहा हैं. गौरतलब है कि जनकपुर -अयोध्या मैत्री बस सेवा नेपाल और भारत में तीर्थाटन को बढ़ावा देने हेतु रामायण सर्किट का हिस्सा है.

सामरिक दृष्टि से भी महत्वपूर्ण है नेपाल

यह मैत्री बस रामायण सर्किट के दो सबसे महत्वपूर्ण स्थानों को जोड़ने के साथ ही साथ यह दोनों देशों के पर्यटकों को तीर्थाटन की सुविधा प्रदान करेगी. जिसके माध्यम से दोनों देशों के संबंध और मजबूत करने में मदद मिलेगी. यूं तो नेपाल एक छोटा सा देश है और भारत का पुराना मित्र भी, लेकिन भारत और चीन के बीच एक बफर स्टेट होने के चलते भारत के लिए इसका सामरिक महत्व अत्यधिक है.

रामायण सर्किट के अंतर्गत आने वाले 15 स्थल

भारत सरकार के पर्यटन विभाग ने रामायण सर्किट परियोजना के अंतर्गत 15 स्थलों का चयन किया है जो नेपाल के अतरिक्त भारत के 9 राज्यों में स्थित हैं ये स्थल हैं- अयोध्या, नंदीग्राम, श्रृंगवेरपुर और चित्रकूट जो कि उत्तर प्रदेश में स्थित हैं वहीँ बिहार के सीतामढ़ी, बक्सर, दरभंगा, ओडिशा के महेंद्रगिरि, महाराष्ट्र के नासिक और नागपुर, तेलंगाना के भद्रचलम, कर्नाटक के हंपी और तमिलनाडु के रामेश्वरम आदि का चयन किया है.