लखनऊ : छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में रविवार को हुए नक्सली हमले में उत्तर प्रदेश के भी 2 जवान शहीद हो गए. सीएम योगी आदित्यनाथ ने हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवान गाजीपुर निवासी श्री अर्जुन राजभर और वाराणसी निवासी श्री रविनाथ सिंह पटेल को भावभीनी श्रद्धांजलि देने के साथ ही, शहीद जवानों के परिजनों को 25-25 लाख रुपए की आर्थिक सहायता व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है. सीएम ने गाजीपुर और वाराणसी जनपद के प्रभारी मंत्री को शहीद जवानो के घर जाकर शोक संवेदना व्यक्त करने का भी निर्देश दिया. सीएम ने शोक संवेदना के साथ श्रद्धांजलि व्यक्त करते हुए कहा कि देश के लिए अपनी जान कुर्बान करने वाले शहीद जवानो के गांवों को आदर्श ग्राम के रूप में विकसित किया जाएगा.

शहीदों के गांवों में पसरा मातम
रविवार को छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग के जरिए विस्फोट कर पुलिस के एसयूवी वाहन को उड़ा दिया था जिसमे 7 जवान शहीद हो गए थे. शहीद जवानो में दो उत्तर प्रदेश के थे. ये नक्सली हमला उस समय हुआ जब गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी छत्तीसगढ़ के दौरे पर थे. हमले में शहीद रविनाथ सिंह पटेल 2013 में सशस्त्र बल में भर्ती हुए थे. 23 वर्षीय रविनाथ पटेल का शव सोमवार को उनके पैत्रिक गांव बसनी पहुंचने की उम्मीद है. गाजीपुर निवासी 35 वर्षीय शहीद अर्जुन राजभर छत्तीसगढ़ की 16वीं बटालियन में सिपाही थे. जैसे ही इनके शहीद होने की खबर पहुंची शहीदों के गांव में मातम पसर गया इनके घरों पर लोगों की भीड़ जुट गई. सभी ने शहीद जवानो को भावभीनी श्रद्धांजलि दी. नक्सलियों की इस कायराना वारदात को लेकर जहां लोगों में आक्रोश था तो वही अपनी माटी के लाल के देश के लिए अपने प्राण न्योछावर करने का गर्व भी था. दोनों शहीदों के गांवों में इनकी शहादत की सूचना के बाद लोगों के घरों में चूल्हे नहीं जले, पूरे गांव मे शोक की लहर है लोग अपने लाल के पार्थिव शरीरों का इन्तजार कर रहे हैं.