Priyanka Gandhi-UP Govt: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और यूपी सरकार के बीच खींचतान और बयानबाजी रुकने का नाम नहीं ले रही है. प्रियंका गांधी की ओर से मंगलवार को कहा गया है कि वे शाम 5 बजे तक यूपी बॉर्डर पर 1000 बसों का इंतजाम करवा देंगे. प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह ने उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी को पत्र लिखकर ये बात कही है. Also Read - 12 साल की बच्‍ची ने बचत के पैसों से प्रवासी मजदूरों को फ्लाइट से झारखंड भेजने का किया इंतजाम

देखें ये पत्र- Also Read - यूपी: कोरोना मरीजों के लिए एक लाख बेड तैयार, इतनी बड़ी तैयारी करने वाला देश का पहला राज्य

दरअसल प्रियंका गांधी ने प्रवासी श्रमिकों के लिए 1000 बसें भेजने की इच्छा जाहिर की थी. इसके लिए उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार से अनुमति मांगी थी.

ऐसे चली खींचतान
प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी को लिखे एक पत्र में आरोप लगाते हुए कहा था कि राज्य सरकार प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के मुद्दे का राजनीतिकरण कर रही है. राज्य में प्रवासियों मजदूरों की वापसी को लेकर पार्टी द्वारा व्यवस्थित की गई बसों की सूची देने के बाद मंगलवार तड़के 2.10 पर अवस्थी को लिखे पत्र में उन्होंने कहा था कि मुख्यमंत्री के कार्यालय से किया गया पूरा प्रकरण कुछ नहीं है, बल्कि राजनीति के चलते इसमें राज्य की सीमा पर फंसे गरीब प्रवासियों की मदद करने के इरादे का अभाव है.

बता दें कि प्रियंका गांधी ने 16 मई को ट्वीट कर कहा था कि हजारों श्रमिक, प्रवासी भाई-बहन बिना खाए भूखे प्यासे पैदल दुनिया भर की मुसीबतों को उठाते हुए अपने घरों की ओर चल रहे हैं. यूपी के हर बॉर्डर पर बहुत मजदूर मौजूद हैं.