COVID19, Coronavirus, UP, Uttar Pradesh, News: उत्‍तर प्रदेश में कोरोना का कहर और तेज हो गया है और पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 15,353 नए केस रविवार को सामने आए हैं. वहीं, राज्‍य में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी को देखते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट कल यानि सोमवार (12thApril) से वर्च्‍युअल मोड से सुनवाई करेगी. बता दें कि यूपी के कई शहरों में नाइट कर्फ्यू लागू है और कोरोना काल के सख्‍त प्रोटोकॉल तय किए गए हैं.Also Read - Coronavirus cases In India: 1 दिन में कोरोना से 26,964 लोग हुए संक्रमित, 186 दिनों में सबसे कम एक्टिव मामले आए सामने

यूपी हेल्‍थ डिपार्टमेंट के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में उत्‍तर प्रदेश में कोविड-19 के 15,353 नए केस सामने आए हैं. इन नए केस के साथ ही यूपी में सक्रिय मरीजों की संख्‍या 71,241 हो गई है और अब तक कोरोना से संक्रमित कुल 6,11,622 लोग ठीक हो चुके हैं. वहीं इस महामारी से निपटने के लिए चलाए जा रहे वैक्‍सीनेशन कार्यक्रम के तहत 85 लाख 15 हजार 296 लोगों को टीका लगाया गया है. Also Read - Covishield: ब्रिटेन की वैक्सीन नीति को लेकर सरकार ने चेताया, कहा- यह भेदभावपूर्ण रवैया, हम भी लेंगे जवाबी एक्शन

Also Read - BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने घरेलू क्रिकेटरों की मैच फीस बढ़ाए जाने के फैसले का स्वागत किया

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, पात्र लोगों को 4-दिवसीय टीका उत्सव में शामिल होना चाहिए। 45 से ऊपर के लोग अभियान का हिस्सा बनने के लिए अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्रों पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। हम 6,000 केंद्रों पर टीकाकरण अभियान चला रहे हैं:

इलाहाबाद हाईकोर्ट सिर्फ वर्चुअल माध्यम से 12 अप्रैल से करेगा सुनवाई
COVID19 की वर्तमान की स्थिति के मद्देनजर इलाहाबाद उच्च न्यायालय केवल वर्चुअल मोड के माध्यम से 12 अप्रैल से सुनवाई करेगा.

यूपी में कक्षा 1 से 12 के सभी सरकारी और निजी स्कूल, कोचिंग सेंटर 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे
यूपी सरकार ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में कक्षा 1 से 12 और कोचिंग सेंटरों के लिए सभी सरकारी और निजी स्कूल 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे. शिक्षण / गैर-शिक्षण कर्मचारी आवश्यकताओं के अनुसार संबंधित संस्थानों में भाग लेना जारी रखें. निर्धारित समय के अनुसार आयोजित की जाने वाली सभी पूर्व नियोजित परीक्षाएं होंगी.

देश में आज 1,52,879 नए मामले आए
बता दें कि भारत में कोविड-19 के एक दिन में रिकॉर्ड 1,52,879 नए मामले आने से संक्रमण के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 1,33,58,805 हो गई, जबकि देश में वर्तमान में इस बीमारी का इलाज करा रहे लोगों की संख्या महामारी शुरू होने के बाद से पहली बार 11 लाख के आंकड़े के पार चली गई है.

भारत में अब भी 11 लाख 8 हजार 87 सक्र‍िय मरीज 
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह 8 बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार, महामारी से एक दिन में 839 लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 1,69,275 हो गई है. 18 अक्टूबर 2020 के बाद से इस बीमारी से एक दिन में जान गंवाने वाले लोगों की यह सर्वाधिक संख्या है. संक्रमण के मामलों में लगातार 32वें दिन वृद्धि हुई है. देश में अब भी 11,08,087 लोग संक्रमित हैं, जो संक्रमण के कुल मामलों का 8.29 प्रतिशत है, जबकि स्वस्थ होने वाले लोगों की दर गिरकर 90.44 प्रतिशत रह गई है. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के मुताबिक 10 अप्रैल तक 25,66,26,850 नमूनों की जांच की जा चुकी है, जिनमें से 14,12,047 नमूनों की जांच शनिवार को की गई.

12 फरवरी को 1,35,926 एक्‍ट‍िव मरीज थे
देश में सबसे कम 1,35,926 उपचाराधीन मरीज 12 फरवरी को थे और सबसे अधिक 10,17,754 उपचाराधीन मरीज 18 सितंबर 2020 को थे, लेकिन अब उपचाराधीन मरीजों की संख्या इस आंकड़े से भी आगे निकल गई है. आंकड़ों के अनुसार इस बीमारी को अब तक 1,20,81,443 लोग शिकस्त दे चुके हैं, जबकि मृत्यु दर 1.27 प्रतिशत है.

24 घंटे में 839 लोगों की मौत हुई है, महाराष्ट्र में 309
देश में पिछले 24 घंटे में जिन 839 लोगों की इस संक्रामक बीमारी से मौत हुई है, उनमें से महाराष्ट्र में 309, छत्तीसगढ़ में 123, पंजाब में 58, गुजरात में 49, उत्तर प्रदेश में 46, दिल्ली में 39, कर्नाटक में 36, मध्य प्रदेश में 24, तमिलनाडु में 23, राजस्थान में 18, केरल और झारखंड में 17-17, आंध्र प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और पश्चिम बंगाल में 12-12 और हरियाणा में 11 लोगों की मौत हुई है.

कोरोना वायरस से देश में अब तक 1,69,275 लोगों की मौत
देश में कोरोना वायरस से अब तक 1,69,275 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें से 57,638 लोगों की मौत महाराष्ट्र में, 12,886 की तमिलनाडु, 12,849 की कर्नाटक, 11,235 की दिल्ली, 10,390 की पश्चिम बंगाल, 9,085 की उत्तर प्रदेश, 7,448 की पंजाब और 7,291 लोगों की मौत आंध्र प्रदेश में हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि जिन लोगों की मौत हुई, उनमें से 70 प्रतिशत से अधिक लोगों को पहले से अन्य बीमारियां भी थीं. मंत्रालय ने कहा, ”हमारे आंकड़ों का भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के आंकड़ों से मिलान किया जा रहा है.”