नई दिल्ली : देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश के आगरा से कुछ ऐसी तस्वीरें आई हैं, जिन्हें देखने के बाद कोई भी हैरान रह जाएगा. कभी कोरोना महामारी से जंग में अन्य क्षेत्रों के लिए मॉडल के तौर पर उभरे आगरा के एक क्वारंटाइन से सामने आई ये तस्वीरें हर किसी को सोचने को मजबूर कर रही है कि कोरोना के संदिग्धों के साथ यहां जो व्यवहार हो रहा है वह कितना सही है. Also Read - अमेरिका के बायोटेक कंपनी का दावा, कोरोना के मरीजों पर असरदार हो रहा है यह दवा

दरअसल, आगरा के एक कोविड 19 क्वारंटाइन सेंटर में लोगों के बीच इतना खौफ है कि यहां के कर्मचारी कोरोना के संदिग्धों के साथ अछूतों जैसा व्यवहार कर रहे हैं. यहां मौजूद कोरोना संदिग्धों को कर्मचारी खाना और पानी भी गेट का शटर बंद करके दे रहे हैं. Also Read - WHO ने भी माना- कोरोना वायरस की जानकारी देने में चीन ने की देरी, दस्तावेजों में हुआ खुलासा

इस पूरी घटना का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें कोरोना क्वारंटाइन सेंटर में मौजूद संदिग्धों के साथ कर्मचारियों का अमानवीय व्यवहार दिखाई दे रहा है. ऐसे में अब जब यह वीडियो वायरल हो रहा है तो जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं. वीडियो शारदा ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूट में बने क्वारंटाइन सेंटर का बताया जा रहा है, जहां पीपीई किट पहने कर्मचारी कोरोना के संक्रमितों को शटर के बाहर से ही चाय पानी पहुंचाया जा रहा है. Also Read - Viral Video: झारखंड के ये भाई-बहन रातोंरात बने स्टार, डांस वीडियो वायरल, लाखों व्यूज, देखें...

जिले के डीएम प्रभू एन सिंह ने कहा कि इस मामले में एक टीम गठित कर दी गई है और इसकी जांच कि  जा रही है. उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि किसी को भी किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो. उन्होंन कहा कि मामला कुछ दिन पुराना है लेकिन अब सब कुछ ठीक है.

बता दें आगरा में अब तक कोरोना के 371 मामले सामने आ चुके हैं और उत्तर प्रदेश में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले भी आगरा में ही हैं. वहीं बात करें देश की तो देश के अलग-अलग राज्यों से अब तक कुल 27,892 कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं. जिनमें से 872 लोगों की मौत हो चुकी है तो वहीं 6,185 लोग इस गंभीर महामारी को मात देने के बाद ठीक हो चुके हैं. एक्टिव केस की बात करें तो देश में अभी 20,835 कुल एक्टिव केस हैं.