नोएडा: कोरोना वायरस से पूरे देश मे इन वक्त हाहाकार मचा हुआ है, वहीं इसके खिलाफ लड़ाई में पहला कदम लॉकडाउन के जरिये उठाया गया है. उत्तर प्रदेश के नोएडा में कोरोनावायरस के अब तक 63 मामले सामने आ चुके हैं, जिसके बाद से जिला प्रशासन की तरफ से हर एहतियाती कदम उठाये जा रहे हैं. जिलाधिकारी सुहास एलवाई के द्वारा वहां पर सभी नागरिकों को आवश्यक दवाइयां आसानी के साथ उपलब्ध हो सके, इसके संबंध में जिला औषधि निरीक्षक के द्वारा 106 दवाई विक्रेताओं के नंबर जारी किए गए हैं,ताकि आम नागरिक आसानी के साथ अपनी दवाइयां फोन के माध्यम से प्राप्त कर सकें. Also Read - बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या हुई ढाई लाख, मरने वालों का आंकड़ा एक हज़ार पार

कोविड-19 वैश्विक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए समस्त जनपद वासियों को कोरोना वायरस से सुरक्षित करने के उद्देश्य से जनपद में 22 स्थानों को हॉट स्पॉट के रूप में चिन्हित करते हुए पूर्ण रूप से सील किया गया है. उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बृहस्पतिवार को बढ़कर 410 हो गई. प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया, ‘‘बुधवार को मरीजों की संख्या 361 थी जो आज बढ़कर 410 हो गई. ये सभी संक्रमित मरीज 40 जिलों के हैं.’’ उन्होंने बताया, ‘‘ कुल संक्रमितों में से तबलीगी जमात के सदस्यों की संख्या 225 है. अब तक 31 लोग उपचारित होकर जा चुके हैं.’’ Also Read - Durga Pooja 2020: देवी दुर्गा में दिखी प्रवासी मजदूरों की पीड़ा, देश भर में हुई इस मूर्ती की तारीफ, जिसने बनाई उसे खबर तक नहीं

प्रसाद ने बताया, ‘‘ राज्य में कोरोना वायरस की वजह से अब तक चार मौतें हुई हैं. ये मौतें मेरठ, बस्ती, वाराणसी और आगरा जिलों में हुई है.’’ उन्होंने बताया,‘‘ राज्य में महामारी रोग अधिनियम लागू है. ऐसे में मास्क को पहनना अनिवार्य है. अगर विशेष परिस्थिति में कोई घर से बाहर निकलता है तो उसको मास्क पहनना जरूरी है. अगर कोई इसका कोई उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.’’ Also Read - WHO ने कहा- युवा और स्वस्थ लोगों को 2022 तक नहीं मिल पाएगी कोरोना वैक्सीन, पहले प्राथमिकता होंगे ज़ोखिम वाले लोग

सरकार की ओर से बृहस्पतिवार शाम को जारी बुलेटिन के मुताबिक आगरा से 19 नये मामले सामने आए हैं. बुलेटिन में बताया गया कि गौतमबुद्ध नगर में 63, मेरठ में 38, लखनऊ में 29, गाजियाबाद में 25, सहारनपुर में 20, शामली में 17, फिरोजाबाद में 11, सीतापुर में 10, कानपुर और वाराणसी में नौ-नौ, बुलंदशहर और बस्ती में आठ-आठ, महाराजगंज, प्रतापगढ़ बरेली में छह-छह, गाजीपुर, रामपुर, बागपत में पांच-पांच, आजमगढ़, हाथरस, मुजफ्फरनगर, जौनपुर, लखीमपुर खीरी में चार-चार, हापुड़ में तीन, पीलीभीत, बांदा, मिर्जापुर, रायबरेली, औरैया, कौशांबी, मथुरा, अमरोहा हरदोई में दो-दो, मुरादाबाद, शाहजहांपुर, बाराबंकी, बिजनौर, प्रयागराज, बदायूं से एक-एक मामला सामने आया है.