लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमित 11 और लोगों की मौत के साथ राज्य में इस वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 660 हो गई है जबकि पिछले 24 घंटों के दौरान इस संक्रमण के 606 नए मामले सामने आए. स्वास्थ्य विभाग अगले महीने से एक वृहद अभियान के तहत उत्तर प्रदेश के सभी 18 मंडलों में कोविड-19 से संबंधित सर्विलांस का काम शुरू करेगा. Also Read - कोविड-19 की दवा विकसित करने के लिए 'ड्रग डिस्कवरी हैकाथन' शुरू, देश में पहली बार हो रही ऐसी पहल

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने रविवार को बताया कि राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 संक्रमित 11 और लोगों की मौत हो गई है और इस तरह मरने वालों का आंकड़ा 660 हो गया है. उन्होंने बताया कि राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 संक्रमण के 606 नए मामले सामने आए हैं जिससे अब तक कुल 22147 मामले हो गये हैं. उनके अनुसार उनमें 14808 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि वर्तमान में राज्य में कोविड-19 के उपचाराधीन मामलों की संख्या 6679 है. Also Read - 'यदि भारत खेलने के लिए तैयार हो जाए तो हम 23 की जगह 13 मैचों के आयोजन पर विचार कर सकते हैं'

अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अब सर्विलांस के काम को अगले स्तर तक ले जाते हुए जुलाई के महीने में एक बहुत बड़ा अभियान चलाया जाएगा, उसे मेरठ मंडल से शुरू किया जाएगा एवं बाद में इसे बाकी 17 मंडलों में भी लागू किया जाएगा. उन्होंने बताया कि जिस तरह पल्स पोलियो अभियान के दौरान घर-घर जाकर टीमें काम करती हैं, उसी तरह हर घर में जाकर सर्वेक्षण का कार्य किया जाएगा. इसके अलावा सभी इलाकों में घर-घर में सर्वेक्षण के दौरान मधुमेह, उच्च रक्तचाप, गुर्दे की बीमारी, ह्रदय रोग और कैंसर इत्यादि के मरीजों का भी आकलन किया जाएगा. Also Read - Coronavirus In India Update: 24 घंटे में 434 लोगों की हुई मौत, संक्रमितों की संख्या 5 लाख के पार

प्रसाद ने कहा कि ऐसे लोगों को संक्रमण होने का ज्यादा खतरा होता है इसलिए हम ऐसे लोगों की ‘रिस्क प्रोफाइलिंग’ करेंगे और जिनमें अन्य गंभीर बीमारी पायी जाएगी उन्हें हमारी टीम उसी समय सतर्क करेगी. उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में अब रोजाना 20 हजार से ज्यादा नमूनों की जांच की जा रही है. उनके अनुसार शनिवार को राज्य में 20782 नमूनों की जांच की गई तथा अब तक प्रदेश में कुल 684296 सैंपल जांचे जा चुके हैं.