Coronavirus Cases in UP: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. लेकिन राज्य के प्रमुख शहर कानपुर में स्थिति कुछ ज्यादा ही चिंताजनक है. राज्य स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक इस शहर में अब तक कोरोना के 170 मामले समाने आए हैं, लेकिन इसमें बड़ी संख्या 10 से 20 साल के छात्रों की हैं, जो मदरसों में पढ़ाई कर रहे थे. Also Read - केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला- दिल्ली के अस्पताल में दिल्लीवासियों का होगा इलाज, बाहरी लोगों का नही

जिला प्रशासन का कहना है कि इन छात्रों में संक्रमण फैलने का मुख्य कारण तबलीगी जमात के लोगों से इनका संपर्क हो सकता है. ये लोग मार्च महीने में दिल्ली में आयोजित मकरज में भाग लेकर यहां आए थे. Also Read - अफगानिस्तान के शीर्ष क्रिकेटरों ने काबुल में शुरू किया अभ्यास

कानपुर के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट (सिटी) ब्रह्मदेव तिवारी ने कहा कि वैसे तो शहर में कई हॉटस्पॉट हैं लेकिन पिछले 12 दिनों में तीन मदरसों से बड़ी संख्या में मामले आए हैं. संक्रमित लोगों में बड़ी संख्या बच्चों व किशोरों की हैं. ये इन मदरसों में पढ़ रहे थे. उन्होंने कहा कि अच्छी चीज ये है कि इन बच्चों में कोरोना के लक्षण दिख रहे थे, जिससे हमें पहचान करने में आसानी हुई. Also Read - पब्लिक प्‍लेस पर आईजी मास्‍क पहनना भूल गए, एसएचओ ने किया फाइन, जानें ये सब कैसे हुआ

इन तीन मदरसों में सबसे ज्यादा संक्रमितों की संख्या कुली बाजार मदरसे में है. यह शहर का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट है. यहां 38 करोना पोजिटिव मामले पाए गए हैं. इस मदरसे के पास ही हते वाली मस्जिद है जहां तबलीगी जमात के लोग आए हुए थे.

इस बीच राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या रविवार को बढ़कर 1873 हो गई. प्रदेश के स्वास्थ्य सेवा निदेशालय की ओर से रविवार देर शाम जारी बुलेटिन में बताया गया कि इनमें से 327 मरीज पूरी तरह ठीक होकर घर जा चुके हैं जबकि 30 लोगों की मौत हो गई है. प्रदेश में अब एक्टिव मामलों की संख्या 1516 है.

बुलेटिन के मुताबिक कोरोना संक्रमण के सबसे अधिक 372 मामले आगरा से हैं. आगरा में 49 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि दस लोगों की मौत हुई है. लखनउ में कुल 194 मामले सामने आये हैं और 30 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि एक व्यक्ति की मौत हुई है. कानपुर में अब तक कोरोना संक्रमण के 170 मामले सामने आये हैं और सात लोग ठीक हो चुके जबकि तीन लोगों की मौत हुई है. इसी तरह गौतमबुद्ध नगर में 117 मामले सामने आये हैं और 71 लोग उपचारित हो चुके हैं. सहारनपुर में 181 मामले हैं और दस लोग पूरी तरह ठीक होकर जा चुके हैं. मुरादाबाद में 101 मामले हैं और यहां एक व्यक्ति ठीक हो चुका है जबकि छह लोगों की मौत हो गई है.

मेरठ में संक्रमण के 89 मामले सामने आए हैं और 36 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि पांच लोगों की मौत हो गई है. वाराणसी में 37 मामले कोरोना संक्रमण के सामने आये हैं. शामली में 27, बागपत में 15, बुलंदशहर में 38, फिरोजाबाद में 83, रायबरेली में 43, अमरोहा और हापुड में 25-25, संत कबीरनगर में 21, बिजनौर में 29, सीतापुर और रामपुर में 20-20, बस्ती में 23 मामले कोरोना संक्रमण के सामने आये हैं.