Coronavirus Cases in UP: शाहजहांपुर जिले में राजस्थान के कोटा से आए 93 बच्चों समेत 120 लोगों को घर में पृथक रखे जाने के बाद अब प्रशासन ने उनके घरों पर नोटिस भी चिपका दिए हैं. जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने कहा कि यहां के बच्चे जो राजस्थान के कोटा शहर में इंजीनियरिंग व मेडिकल आदि की तैयारी कर रहे थे और लॉकडाउन के चलते कोटा में ही फंस गए थे. उन्हें यहां शासन के निर्देश पर लाया गया है तथा उनके रैपिड टेस्ट करने के बाद उन्हें 14 दिन के लिए घर में ही पृथक रखने को कहा गया है. Also Read - Corona Updates: देश में 24 घंटे में रिकॉर्ड 4205 मौतें, COVID-19 के 3.48 लाख से ज्‍यादा नए केस

उन्होंने बताया कि उनमें हालांकि कोरोना वायरस के लक्षण नहीं मिले लेकिन इसके बाद भी पूरी एहतियात बरतते हुए उनके घरों पर नोटिस चिपका दिए गए हैं, ताकि उनके परिवार के सदस्य किसी से ना मिले और ना ही कोई बाहरी व्यक्ति उनके घर जाए. Also Read - MP: मेडिकल कॉलेज की नर्स, 2 लैब टेक्निशियन रेमडेसिविर इंजेक्शन की ब्‍लैक में बेचते हुए गिरफ्तार

जिलाधिकारी सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के दल लगातार उनके घरों पर जाकर उनसे स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ले रहे हैं और नियंत्रण कक्ष से भी इन लोगों पर पूरी नजर रखी जा रही है. मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजीव कुमार गुप्ता ने रैपिड किट से जांच पर रोक लगाने के सवाल पर कहा कि विभागीय टीम सभी छात्रों के घर पर जाकर उनसे स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ले रही है और शासन से जैसे निर्देश प्राप्त होंगे उसी आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. Also Read - कोविड-19 से ठीक होने के बाद तिहाड़ जेल भेजा गया गैंगस्टर Chhota Rajan