Covid-19 Total Positive And First Death Case In UP: एक तरफ जहां पूरा देश कोरोना वायरस की चपेट में आ चुका है. वहीं यूपी में कोरोना वायरस से पहली मौत दर्ज की जा चुकी है. बात दें कि 25 वर्षीय शख्स की मौत 30 मार्च को ही हुई थी, लेकिन उसकी रिपोर्ट आज आई है. इस रिपोर्ट के बाहर आने के बाद गोरखपुर सही पूरे यूपी में हड़कंप मच गया है. बता दें कि युवक की तबियत खराब होने पर उसे गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. Also Read - अपने कर्मचारियों को 5 साल तक के लिए छुट्टी पर भेजेगी एयर इंडिया, तनख्वाह नहीं दी जाएगी

बता दें कि मृतक युवक बस्ती का रहने वाला था. मेडिकल रिपोर्ट में कोरोना संक्रमित होने की खबर के बाहर आने के तुरंत बाद बस्ती पुलिस प्रशासन ने लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने का निर्देश जारी कर दिया है. यही नहीं जैसा कि भारत में कोरोना अभी सेकेंड स्टेज में है, इस लिहाज से यवक के संपर्क में आए सभी लोगों की जांच की जा रही है. साथ ही उम्मीद जताई जा रही है कि उन्हें क्वारंटीन किया जा सकता है. बता दें कि युवक को सांस समस्या के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया था. खबरों की मानें तो युवक के परिजन पुलिस को युवक से जुड़ी जानकारी को साझा करने से कतरा रहे हैं. Also Read - कोरोना: दिल्ली में 1 लाख 17 हज़ार मामले, 95 हज़ार लोग ठीक, 3487 की मौत

बात करें अगर यूपी में कोरोना की तो अब तक प्रदेश में कुल 118 मामले सामने आ चुके हैं. इसमें सर्वाधिक गौतमबुद्ध नगर (नोएडा) के हैं, जहां संक्रमितों की संख्या 48 तक पहुंच गई है. प्रदेश में 16 जिलों में कोरोना वायरस के पॉजिटिव केस मिले हैं. इनमें सर्वाधिक 48 पॉजिटिव नोएडा में मिले हैं. उनमें अधिकतर एक निजी कंपनी के कर्मचारी व अधिकारी शामिल हैं. इसके अलावा मेरठ में 19, आगरा में 12, लखनऊ में नौ, गाजियाबाद में आठ, बरेली में छह, बुलंदशहर में तीन, पीलीभीत व वाराणसी में दो- दो, और गोरखपुर, बस्ती, लखीमपुर खीरी, शामली, मुरादाबाद, कानपुर, जौनपुर व बागपत में एक-एक मरीज की पुष्टि की गई है. Also Read - अनुपम खेर ने मां की तबीयत के बारे में कही ये बात- बोलने से मन हल्का हो जाता है

बता दें कि तबलीगी जमात मामले के सामने आने के बाद इससे जुड़े लोगों की तलाश भी यूपी में जारी है. इसी कड़ी में यूपी के पूर्वांचल हिस्से में भी कुछ मामले सामने आए हैं. खबरों की माने तो गाजीपुर जिले में 11 और मऊ जिले में जमात से जुड़े 9 लोगों से पूछताछ की जा रही है. यही नहीं बताया जा रहा है कि गाजीपुर में जमात से आए दो लोगों की हालत गंभीर है, लेकिन इस बात की अभी तक पुष्टि नहीं की जा सकी है. इस मामले में गाजीपुर पुलिस अधिकारियों की माने तो जमात से जुड़े 11 सदस्य शाहजहांपुर और देहरादून के रहने वाले हैं, साथ ही गाजीपुर जिले में उनका कोई करीबी रिश्तेदार भी नहीं रहता. हालांकि इन लोगों पर प्रशासन नजर बनाए हुए है.