Uttar Pradesh Coronavirus Update: उत्तर प्रदेश में बड़ी संख्या में लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो रहे हैं. रविवार को संक्रमण के 254 नए मामले सामने आए, जिससे संक्रमितों की संख्या 6,268 तक पहुंच गई. जानलेवा वायरस की चपेट में आने से अब तक 161 मौतें हो चुकी हैं. राहत की बात यह कि अस्पतालों में उपचार से अब तक 3538 लोग संक्रमण-मुक्त हो चुके हैं. Also Read - Breaking News: अमिताभ बच्चन हुए कोरोना संक्रमित, ट्वीट कर कहा- मुझसे जुड़े लोग फौरन कराएं जांच

संक्रामक रोग विभाग के संयुक्त निदेशक डॉक्टर विकासेंदु अग्रवाल ने बताया कि आगरा में 850, मेरठ में 377, नोएडा में 351, कानपुर शहर में 328, लखनऊ में 327, गजियाबाद में 332, सहारनपुर में 230, फिरोजाबाद में 209, मुरादाबाद में 183, वाराणसी में 149, रामपुर में 148, बाराबंकी में 133, अलीगढ़ में 126, जौनपुर में 126, बस्ती में 124, बुलंदशहर में 106, हापुड़ में 99, सिद्धार्थनगर में 78, गाजीपुर में 77, बिजनौर में 76, बहराइच में 70 और प्रयागराज में 69 लोग कोरोना के मरीज कहलाने को मजबूर हो गए हैं. Also Read - ICMR का दावा, रेमडेसिविर, टोसिलिजुमैब का अत्यधिक इस्तेमाल फायदे से ज्यादा पहुंचा सकता है नुकसान 

इसी तरह संभल में 66, रायबरेली में 62, मथुरा में 61, लखीमपुर खीरी में 60, सुल्तानपुर में 60, प्रतापगढ़ में 59, संत कबीर नगर में 59, अयोध्या में 57, अमरोहा में 56, देवरिया में 53, गोंडा में 50, बरेली में 47, मुजफ्फरनगर में 46, कौशांबी में 45, जलौन में 43, अमेठी में 41, पीलीभीत में 41, आजमगढ़ में 40, गोरखपुर में 40, शामली में 40, सीतापुर में 39, इटावा में 38, फतेहपुर में 38, हरदोई में 38 और महराजगंज में भी 38 लोग कोरोना संक्रमण का शिकार हैं. Also Read - Bengaluru Lockdown: बेंगलुरू में 14-23 जुलाई तक लागू हुआ लॉकडाउन, सिर्फ इन्हें होगी आने-जाने की इजाजत

अंबेडकर नगर में 37, बलरामपुर में 36, कन्नौज में 36, बदायूं में 35, झांसी में 32, मिर्जापुर में 31, बागपत में 29, श्रावस्ती में 29, उन्नाव में 26 फरु खाबाद में 25, मैनपुरी में 25, बांदा में 23, भदोही में 23 औरैया में 22, हाथरस में 22, चित्रकूट में 20, चंदौली में 18, शाहजहांपुर में 18, बलिया में 15, कासगंज में 15, मऊ में 15, एटा में 13, कानपुर देहात में 10, कुशीनगर में 9, महोबा में 9, सोनभद्र में 5, हमीरपुर में 4 और ललितपुर में 1 व्यक्ति पॉजिटिव होने के कारण एकांतवास में रहने को विवश हैं.
(एजेंसी से इनपुट)