लखनऊ: भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले बढ़ने के कारण लोगों में चिंता बढ़ रही है कि कहीं लॉकडाउन की अवधि आगे न बढ़ जाए. लेकिन सरकार ने साफ कर दिया है कि लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने का कोई इरादा नहीं है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोगों से इस वायरस से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग की भी अपील कर रहे हैं. पूरे देश में कोरोना वायरस को रोकने के लिए सरकार युद्ध स्तर पर प्रयास कर रही हैं. यूपी सरकार ने भी इस वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अभियान तेज कर दी है. Also Read - IRCTC Indian Railways: इन 40 मार्गों पर रेलवे का प्रदर्शन रहा शानदार, इसलिए चलाई जाएंगी और ट्रेनें

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक 126 मामले सामने आए हैं और इनमें से 17 लोग उपचार के बाद ठीक होकर वापस घर लौट चुके हैं . बात तबलीगी जमात की करें तो ऐसे 429 लोगों के सैंपल लेकर लैब में भेजे गए हैं. प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया, “17 लोग उपचार के बाद ठीक होकर घर वापस लौट चुके हैं .” प्रसाद ने कहा, “तबलीगी जमात के बहुत सारे लोगों को पृथक रखा गया है. अभी उनमें से 429 लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं और उनको प्रयोगशालाओं में भेज दिया गया है. बाकी जितने लोग भी पृथक रूप से रखे गए हैं, उन सभी के सैंपल लेने की प्रक्रिया चल रही है .” Also Read - IRCTC Indian Railways: कुछ खास रूट्स पर बढ़ाई जाएंगी ट्रेनों की संख्या, रेल मंत्री बोले- बनाएंगे रिकॉर्ड

उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य सेवा निदेशालय ने अपनी बुलेटिन में बताया कि अब तक कोरोना संक्रमण के 126 प्रकरण सामने आए हैं. बुलेटिन में कहा गया कि सबसे अधिक 48 मामले गौतम बुद्ध नगर के हैं. मेरठ में 24, आगरा में 12, लखनऊ में 10, गाजियाबाद में नौ, बरेली में छह, बुलंदशहर में तीन, वाराणसी, पीलीभीत और बस्ती में दो-दो तथा लखीमपुर खीरी, कानपुर, मुरादाबाद, शामली, जौनपुर, बागपत, हापुड़ और गाजीपुर में एक एक मामला सामने आया है. Also Read - Complete Lockdown in Bihar: कल से बिहार में पूर्ण लॉकडाउन, जानिए खुलने वाली चीजों की पूरी लिस्ट