बलिया: समाजवादी पार्टी के नेता एवं पूर्व मंत्री घूरा राम की बृहस्पतिवार तड़के कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हो गई . घूरा राम के पुत्र सन्तोष कुमार ने बताया कि बृहस्पतिवार तड़के चार बजे उनके पिता का लखनऊ की किंगजार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में निधन हो गया . वह 63 वर्ष के थे . Also Read - Video: बोर न हों कोरोना के मरीज, पीपीई किट में डॉक्टर ने 'घुंघरू' गाने पर किया जबरदस्त डांस

उन्होंने बताया कि घूरा राम को गत 14 जुलाई की देर रात्रि कफ व सांस लेने में दिक्कत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था . उन्होंने बताया कि बुधवार को उनकी मेडिकल जांच की रिपोर्ट आयी, जिसमें उनके कोविड-19 से पीड़ित होने की पुष्टि हुई. Also Read - कोल्ड चेन की कमी से दुनिया में तीन अरब लोगों तक कोरोना टीका पहुंचने में हो सकती है देर

उन्होंने बताया कि कल से कफ व रक्तचाप की परेशानी बढ़ी और उनकी हालत बिगड़ गई थी . बसपा संस्थापक कांशी राम के विश्वस्त सहयोगी रहे घूरा राम वर्ष 1993 , 2002 व 2007 में जिले की रसड़ा सुरक्षित सीट से विधायक रहे तथा मायावती सरकार में स्वास्थ्य राज्य मंत्री रहे . हाल ही में वह सपा में शामिल हो गए थे . सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने घूरा राम को दल की राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बनाया था . Also Read - कोरोना को मात देने के बाद जेनेलिया ने संक्रमण से बचने का बताया एकमात्र तरीका, कहा- अब मुश्किल...

भारत में पहली बार एक दिन में कोविड-19 के 30,000 से अधिक मामले सामने आने के साथ बृहस्पतिवार को संक्रमण के मामले बढ़कर 9,68,876 पर पहुंच गए जबकि 606 लोगों की मौत के साथ अब तक 24,915 लोग जान गंवा चुके हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार देश में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 32,695 मामले सामने आए. इस संक्रामक रोग से 6,12,814 लोग स्वस्थ हो चुके हैं जबकि 3,31,146 लोग अब भी संक्रमित हैं. एक अधिकारी ने बताया, ‘‘अभी तक करीब 63.25 प्रतिशत मरीज स्वस्थ हो चुके हैं.’’ संक्रमण के कुल मामलों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं.