नई दिल्‍ली: कांग्रेस नेत्री व पार्टी की उत्‍तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्‍तर प्रदेश ने पीपीई किट की गुणवत्‍ता को लेकर सवाल उठाए हैं और जनसंपर्क विभाग उत्‍तर प्रदेश और महानिदेशक चिकित्‍सा विभाग लखनऊ के कथित पत्र को शेयर किया है. प्र‍ियंका ने इसे घोटाला बताते हुए उत्‍तर प्रदेश सरकार से दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई को लेकर प्रश्‍न किया है. Also Read - Coronavirus Latest News: विश्व में 64 लाख से ज्यादा लोग कोविड-19 के शिकार, लगभग चार लाख लोग गवां चुके जान

कांग्रेस महासचिव प्र‍ियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा है. यूपी के कई सारे मेडिकल कालेजों में खराब PPE किट दी गई थीं. ये तो अच्छा हुआ सही समय पर वो पकड़ में आ गईं तो वापस हो गईं और हमारे योद्धा डाक्टरों की सुरक्षा से खिलवाड़ नहीं हुआ. लेकिन हैरानी की बात ये है कि यूपी सरकार को ये घोटाला परेशान नहीं कर रहा है, बल्कि .. ये परेशान कर रहा है कि खराब किट की खबर बाहर कैसे आ गई. Also Read - कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भूमि पेडनेकर ने किया लोगों से ये अपील, बिग बी, अक्षय ने भी बढ़ाया हाथ  

ये तो अच्छा हुआ कि खबर बाहर आ गई वरना खराब किट का मामला पकड़ा ही नहीं जाता और ऐसे ही रफा-दफा हो जाता. क्या दोषियों पर कार्यवाही होगी? Also Read - Coronavirus in Indore News: हॉटस्पॉट इंदौर में संक्रमितों की संख्या 3,600 के पार, अब तक 145 मरीजों की मौत

प्र‍ियंका गांधी ने जनसंपर्क विभाग उत्‍तर प्रदेश के कथित पत्र को शेयर किया है, जिसमें महानिदेशक चिकित्‍सा विभाग लखनऊ ने जारी किया था. ये पत्र विभिन्‍न मेडिकल कॉलेजों व चिकित्‍सा संस्‍थानों के प्रमुखों को जारी किया है. इस पत्र में उत्‍तर प्रदेश मेडिकल सप्‍लाई कॉर्पोरेशन द्वारा आपूर्ति की गई पीपीई किट के संबंध में दिशा निर्देश दिया गया है.

महानिदेश चिकित्‍सा विभाग लखनऊ ने इस जारी कथित पत्र में लिखा है कि जीआईएमसी नोएडा के निदेशक व प्रधानाचार्य मेरठ द्वारा उनके कॉलेज/ संस्‍थान में यूपी मेडिकल सप्‍लाई कॉरपोरेशन द्वारा आपूर्ति की गई पीपीई किट की गुणवत्‍ता को अधोमानक बताया है.

महानिदेश चिकित्‍सा विभाग ने पत्र में कहा गया है कि आपको निर्देशित किया जता है कि आपके कॉलेज/ संस्‍थान में अधोमानतक पीपीई किट या अतोन्‍य सामग्री प्राप्‍त होती है तो उसका उपयोग कदापि न किया जाए एवं भारत सरकार की गाइडलाइन का पालन किया साथ ही उक्‍त सामग्री को जल्‍द वापस कर उसके स्‍थान पर गुणवत्‍तायुक्‍त पीपीई किट या अन्‍य सामग्री भी प्राप्‍त की जाए. कृपया इस कार्यवाही को सुनिश्चिति करते हुए इस कार्यालय को अवगत कराने का कष्‍ट करें.