प्रयागराज: प्रदेश के दूसरे जिलों से आकर प्रयागराज में विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले हजारों छात्र-छात्राओं को सरकार ने उनके गृह जनपद पहुंचाने का सोमवार को निर्देश जारी किया. जिला प्रशासन ने इन छात्र-छात्राओं को दो चरणों में उनके गृह जनपद पहुंचाने की व्यवस्था की है. Also Read - Summer Vacation Begins in Delhi Schools: दिल्ली के स्कूलों में अब इस दिन से गर्मी की छुट्टियां

जिला प्रशासन द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में प्रयागराज के जिलाधिकारी भानु चंद्र गोस्वामी ने बताया कि प्रथम चरण में सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली, वाराणसी, जौनपुर, प्रतापगढ़, कौशांबी, फतेहपुर और चित्रकूट जिले के छात्र-छात्राओं को बसों के माध्यम से भेजा जाएगा. Also Read - कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण सबसे बड़ा हथियार: पीएम मोदी

विज्ञप्ति के मुताबिक, इनमें जौनपुर, भदोही, वाराणसी और चंदौली जिलों के लिए बसें सिविल लाइंस स्थित हनुमान मंदिर से हिंदू हास्टल चौराहा के बीच से संचालित की जाएंगी. वहीं सोनभद्र, मिर्जापुर और चित्रकूट जिलों के लिए बसें सिविल लाइंस के हनुमान मंदिर से मेडिकल चौराहा के बीच महात्मा गांधी मार्ग से संचालित की जाएंगी. Also Read - अब दिल्ली के किसी भी स्टेशन पर नहीं मिलेंगे प्लेटफॉर्म टिकट, जानिए क्यों लिया गया ये फैसला

वहीं फतेहपुर और कौशांबी के लिए बसें सिविल लाइंस स्थित पत्थर गिरिजाघर से संचालित की जाएंगी. जबकि प्रतापगढ़ के लिए बसें लोक सेवा आयोग चौराहा से संचालित की जाएंगी. विज्ञप्ति के मुताबिक, इन बसों का संचालन 27 अप्रैल की रात्रि 9 बजे से रात्रि 12 बजे के बीच और 28 अप्रैल को सुबह 8 बजे से प्रारंभ किया जाएगा.

इसी तरह, दूसरे चरण में प्रदेश के अन्य जिलों में जाने के इच्छुक छात्र-छात्राओं के लिए बसें 29 अप्रैल को सुबह 10 बजे से संचालित की जाएंगी जिसकी विस्तृत जानकारी अलग से दी जाएगी. हालांकि इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए छात्र-छात्राओं को अपने विश्वविद्यालय या महाविद्यालय या शिक्षण संस्थान आदि द्वारा जारी फोटोयुक्त पहचान पत्र और कोचिंग संस्थानों द्वारा जारी फोटोयुक्त पहचान पत्र या पिछले दो वर्षों में किसी प्रतियोगी परीक्षा में प्रतिभाग करने संबंधी प्रवेश पत्र दिखाना आवश्यक होगा.