वाराणसी: उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर में दो मौसेरी बहनों ने अपने परिवारों की इच्छा के विरुद्ध एक-दूसरे के साथ शादी कर ली. लड़कियों ने इसके बाद अपनी शादी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी पोस्ट कर दीं, जिसने धार्मिक नगरी में हर किसी को हैरानी में डाल दिया. वाराणसी में शायद यह पहला समलैंगिक विवाह है.

रोहानिया निवासी लड़कियां बुधवार को एक शिवमंदिर पहुंची और पुजारी से उनकी शादी कराने के लिए कहा, जिसके लिए पुजारी ने मना कर दिया. लेकिन लड़कियां मंदिर में ही बैठ गईं और पुजारी के मानने तक वहीं बैठी रहीं.

जींस-टीशर्ट पहने और लाल चुनरी डाले हुए लड़कियों ने शादी कर ली. शादी संपन्न होने तक मंदिर में भारी भीड़ लग चुकी थी. किसी अप्रिय स्थिति के होने से पहले ही लड़कियां वहां से चली गईं.

कुछ लोगों ने शादी संपन्न कराने के लिए पुजारी की आलोचना की है. पुजारी ने बाद में संवाददाताओं को बताया कि एक लड़की कानपुर की है और पढ़ाई के लिए यहां अपनी मौसेरी बहन के साथ रहती थी. पढ़ाई के दौरान दोनों के बीच घनिष्‍टता हो गई और इन्‍होंने शादी करने का निर्णय ले लिया.