CM Yogi, COVID-19, UP Govt, Uttar Pradesh, Coronavirus, News: उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने रविवार को को राज्‍य के अधिकारियों से सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि कोई भी सरकारी या निजी अस्पताल किसी भी COVID-19 रोगी  को बिस्तर उपलब्ध होने पर भर्त्ती करने से इनकार न करें. अगर सरकारी अस्‍पताल में बेड उपलब्‍ध नहीं है, तो मरीज को किसी प्राइवेट अस्‍पताल में भेजा जाना चाहिए.Also Read - CM योगी का ऐलान, अब यूपी की सड़कों पर नहीं होगी नमाज, कहा- हजारों लाउडस्पीकरों की आवाज को कम किया गया

मुख्यमंत्री ने राज्य में कोविड-19 प्रबंधन की समीक्षा करते हुए एक उच्च स्तरीय बैठक में कहा कि कोई भी निजी या सरकारी अस्पताल किसी कोविड-19 मरीज को उपचार से इनकार नहीं कर सकता. मुख्यमंत्री ने कहा है कि किसी भी गरीब आदमी का निजी अस्पताल में उपचार होने पर राज्य सरकार आयुष्मान योजना के तहत इलाज का भुगतान करेगी. Also Read - आगरा में मंकीपॉक्स को लेकर अलर्ट जारी, विदेश से आने वाले पर्यटकों पर स्वास्थ्य विभाग की पैनी नजर

उत्‍तर प्रदेश सरकार ने कहा है, अगर मरीज किसी सरकारी अस्‍पताल से रेफर किया गया है और मरीज प्राइवेट अस्‍पताल का खर्च वहन करने मे सक्षम नहीं है, तो यूपी सरकार उसका खर्चा उठाएगी, जो आयुष्‍मान भारत योजना के तहत स्‍वीकृत है. Also Read - यूपी: कॉलेज में प्रोफेसर का नमाज अदा करते वीडियो वायरल हुआ, रिपोर्ट के आधार होगी कार्रवाई

सूचना विभाग के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने रविवार को बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति में किसी मरीज की मृत्यु पर अंतिम संस्कार में किसी प्रकार का शुल्क न लिया जाए तथा सभी का अंतिम संस्कार अपने धार्मिक मान्यताओं एवं रीति-रिवाजों के तहत किया जाए.

एक मई से 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों का निःशुल्क टीकाकरण
सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा, ”कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए टीकाकरण आवश्यक है. आगामी एक मई से 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों का निःशुल्क टीकाकरण किया जायेगा। इसके लिए एक करोड़ टीका खुराकों का प्रबंध किया जा रहा है.

 39 अस्पतालों में ऑक्सीजन संयंत्र लगाने का काम शुरू
अपर मुख्य सचिव सहगल ने कहा, ” प्रदेश में आक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए 100 बेड से अधिक क्षमता वाले प्रत्येक अस्पतालों में आक्सीजन संयंत्र लगाने के निर्देश दिए गए हैं. ऐसे सभी संयंत्रों में वातावरण से ऑक्सीजन बनायी जाएगी. इस प्रकार के 39 अस्पतालों में संयंत्र लगाने के लिए मशीनें लाने का काम शुरू हो गया है. इसके अतिरिक्त प्रदेश के 855 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में 488 करोड़ रुपए की लागत से आक्सीजन प्लांट लगाए जाने की प्रक्रिया भी प्रारंभ कर दी गई है. ”

मुख्यमंत्री ने जनता से अपील – जरूरी ना हो तब तक घर से ना निकलें
मुख्यमंत्री योगी ने जनता से अपील की है, कोविड-19 संक्रमण के अत्यधिक तीव्र प्रसार के मद्देनजर जब तक जरूरी ना हो तब तक घर से ना निकलें. साथ ही 10 साल से कम उम्र के बच्चे, 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग, गर्भवती महिलाएं, एक से अधिक बीमारियों से ग्रस्त व्यक्ति, कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले लोग घर से बाहर न जाएं.” योगी ने अपील की कि कार्यालयों में कर्मचारियों को पालियों में बुलाएं. एक बार में आधे से अधिक कर्मचारियों को न बुलाया जाए. कोरोना की लड़ाई के लिए आवश्यक जीवन रक्षक दवाओं एवं आक्सीजन इत्यादि की जमाखोरी न करें. अफवाहों से बचें.