Covid Vaccine: कोरोना वैक्सीन का टीका लगने के अगले ही दिन उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के जिला अस्पताल के वार्ड ब्वॉय महिपाल सिंह की मौत हो गई. उसकी मौत की खबर से खलबली मच गई है. परिजनों का आरोप है कि टीका लगने के बाद से महिपाल की हालत बिगड़ी और रविवार की शाम में ही उनकी मौत हो गई, जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी का कहना है कि उसकी मौत का कोविड वैक्सीन से कोई लेना-देना नहीं है. टीके के रिएक्शन से मौत संभव नहीं है. उन्होंने कहा कि महिपाल को  सांस फूलने और सीने में दर्द की शिकायत पर अस्पताल लाया गया था.Also Read - One Year of Vaccination Drive: देश में कोरोना टीकाकरण का एक साल पूरा, अब तक 156 करोड़ से ज्यादा डोज लगाई गईं

मुरादाबाद के चीफ मेडिकल ऑफिसर MC गर्ग ने रविवार देर रात बताया कि ‘महिपाल को शनिवार की दोपहर वैक्सीन लगाई गई थी. रविवार को उन्हें सांस लेने में तकलीफ और सीने में दर्द की शिकायत हुई. उन्होंने शनिवार की रात को अपनी नाइट ड्यूटी भी की थी और तबतक कोई दिक्कत नहीं थी.’ उन्होंने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के हवाले से बताया है कि ‘उनकी मौत ‘cardio-pulmonary disease’ के चलते ‘cardiogenic shock/septicemic shock’ की वजह से हुई है और इसका वैक्सीन से कोई संबंध नहीं है.’ Also Read - Precaution Dose First Day: पहले दिन करीब 10.50 लाख लोगों को लगी वैक्सीन की तीसरी खुराक मिली

सीएमओ ने बताया कि कोरोना के टीके से रिएक्शन की बात प्राथमिक जांच में सामने नहीं आई है. परिजन उनके सीने में जकड़न और सांस फूलने की शिकायत बता रहे हैं.अस्पताल पहुंचने से पहले उनकी मौत हो चुकी थी. Also Read - Intranasal COVID Vaccine: अब आएगी दर्द रहित वैक्सीन, नाक से दिए जाने वाले टीके पर एक कदम और बढ़ी सरकार

उधर, महिपाल के बेटे विशाल ने बताया कि पिताजी की टीका लगाने के बाद ही हालत बिगड़ी थी, हालांकि उन्होंने यह स्वीकार किया कि उनको निमोनिया की शिकायत थी लेकिन टीके ने उनकी तबीयत अचानक बिगाड़ दी.

जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने इस संबंध में बताया कि सीएमओ ने उन्हें इस मामले की जानकारी दी है सीएमओ ने कहा है कि पोस्टमार्टम के बाद ही सही वजह पता चलेगी. वहीं और भी कई लोगों ने टीका लेने के बाद तबियत बिगड़ने की शिकायत की है जैसा कि टीकाकरण को लेकर पहले ही कहा भी गया था.