लखनऊ: क्राइम की राजधानी में तब्दील हो चुकी यूपी की राजधानी लखनऊ में बेखौफ बदमाशों ने भीड़ भरे इलाके में दो सगे भाइयों बीस वर्षीय इमरान व 18 वर्षीय अरमान  को दौड़ा-दौड़ाकर डंडों और लकड़ियों से पीटने के बाद गोली मार कर हत्या कर दी.

मदद के लिए गुहार लगाते रहे  दोनों भाई
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बुधवार रात लगभग आधा दर्जन बदमाशों ने ठाकुरगंज इलाके में पुलिस थाने से महज पांच सौ मीटर की दूरी पर इस वहशियाना वारदात को अंजाम दिया. दोनों भाई मदद के लिए गुहार लगाते रहे लेकिन भीड़ भरे इलाके में कोई बचाव के लिए नहीं आया. वारदात के बाद लोगों के आक्रोश को देखते हुए आठ थानों की पुलिस मौके पर तैनात कर पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया.

घटना के दौरान गायब रही पुलिस अब सीसीटीवी फुटेज खंगालने के साथ बदमाशों को तलाश कर रही है. अब तक प्राप्त सूचना के मुताबिक चार संदिग्धों को पुलिस ने हिरासत में लिया है. प्रभारी निरीक्षक अंजनी कुमार पांडेय के मुताबिक मल्लाही टोला निवासी इमरान कैब ड्राइवर व उसके पिता प्रॉपर्टी डीलर दिलदार मोहल्ला मिश्री की बगिया में छोटे बेटे रेहान के साथ रहते हैं. वारदात के वक्त इमरान अपने भाई अरमान व दोस्त निशांत के साथ बीमार पिता को दवा दे कर लौट रहा था जहां ठाकुरगंज चौराहा के पास उनपर हमला हुआ.

हरदोई में उधार पान मसाला नहीं देने पर बुजुर्ग को पीट-पीटकर मार डाला

निशांत के मुताबिक जलसंस्थान के पास पीछे से एक बाइक व कार से आए बदमाशों ने कैब को ओवरटेक करके रोका व कैब चला रहे अरमान के बगल वाली सीट पर बैठे उसके भाई इमरान से कुछ बहस की, कैब की पिछली सीट पर बैठा निशांत कुछ समझ पाता इससे पहले ही दोनों भाई गाड़ी से उतर कर भागने लगे. बदमाशों ने उन पर लकड़ी व डंडे से हमला करने के बाद ताबड़तोड़ गोलियां चला कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया. कैब से कुछ दूरी पर ही बुरी तरह खून से लथपथ से दोनों भाई गिर गए पड़े.

दोहरे हत्याकांड से थर्राया इलाका, बढ़ा आक्रोश
घटना की सूचना मिलने पर लखनऊ जोन के अपर पुलिस महानिदेशक राजीव कृष्ण, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी, अपर पुलिस अधीक्षक नगर पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे. दोनों युवकों को पुलिस ने ट्रामा सेंटर पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. प्राम्भिक जांच में पुलिस को पुरानी रंजिश से जुड़े कुछ सूत्र मिले हैं.

वारदात के प्रत्यक्षदर्शी व एक अन्य गवाह से पुलिस को मिली जानकारी के मुताबिक कुछ दिनों पहले कुछ लोगों से इनका विवाद हुआ था. पुलिस द्वारा संदिग्धों की धर- पकड के लिए बदमाशों के संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है. क्राइम की राजधानी बन चुके लखनऊ में लोगों में भय मिश्रित आक्रोश व्याप्त है.