लखनऊ: राजधानी लखनऊ के चिनहट इलाके में हुई एक मुठभेड़ में 25 हजार के इनामी बदमाश ऋषि उर्फ राजीव तिवारी गिरफ्तार करने में पुलिस ने कामयाबी पाई . राजीव तिवारी गोरखपुर के शाहगंज में हुई एक हत्या मामले का भी वांछित था. मुखबिर की सूचना पर इनामी बदमाश को चिनहट थाना क्षेत्र से थाना प्रभारी सरोजनी नगर धर्मेश शाही, दारोगा संतोष सिंह और एसओ चिनहट राजकुमार सिंह की संयुक्त टीम ने गिरफ्तार किया गया. अभियुक्त के पास से 32 बोर की पिस्टल और कारतूस भी बरामद हुए हैं.

विश्वस्त सूत्रों के हवाले से पता चला है कि उपरोक्त अभियुक्त एक अत्यंत प्रभावशाली और रसूखदार नेता का करीबी भी है. उल्लेखनीय है कि राजीव तिवारी पर पहले 15 हजार का इनाम घोषित किया गया था लेकिन उसकी वारदातों की गंभीरता को देखते हुए इनाम की धनराशि को बाद में बढाकर 25 हजार कर दी गई थी. थाना प्रभारी सरोजनी नगर धर्मेश शाही ने इस बारे जानकारी देते हुए बताया कि उन्हें मुखबिर से सूचना मिली थी कि एक वांछित अभियुक्त राजधानी में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने वाला है, इस अभियुक्त की कई संगीन मामलों में पुलिस को तलाश थी और उसका राजधानी में बड़ी वारदात को अंजाम देने का इरादा था. लेकिन उससे पहले वह पुलिस के चंगुल में फंस गया. गौरतलब है कि ऋषि राजीव तिवारी पुत्र दिनेश कुमार तिवारी शाहपुर जनपद गोरखपुर का निवासी है. जिसके खिलाफ थाना शाहपुर जनपद गोरखपुर में आईपीसी की धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज है.