Firozabad dengue and viral fever फिरोजाबाद में वायरल एवं डेंगू बुखार से मरने वालों की संख्या बढ़कर 47 हो गयी जबकि जिलाधिकारी ने मामले में लापरवाही बरतने पर तीन चिकित्सकों को निलंबित कर दिया हैं. इस बीच भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की 11 सदस्यीय दल फिरोजबाद पहुंच गया है और बुखार के कारणों का पता लगा रहा है . सदर विधायक मनीष असीजा का दावा है कि मरने वालों की संख्या 61 पहुंच गयी हैं.Also Read - Viral Fever in Bihar: बिहार में वायरल बुखार का कहर जारी, अबतक 946 लोग पहुंचे अस्पताल

जिले में वायरल एवं डेंगू बुखार से पीड़ित मरीजों की संख्या दिनों दिन बढ रही है इसके कारण मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है. स्वास्थ्य विभाग के अपर निदेशक स्वास्थ्य (आगरा मंडल) डॉक्टर ए के सिंह ने बृहस्पतिवार देर शाम बताया कि बुधवार शाम तक 41 लोगों की मौत का आंकड़ा स्वास्थ्य विभाग के पास मौजूद था. उनके अनुसार देर रात्रि तक चार और लोगों की मौत हुई, जिससे रात्रि तक आंकड़ा 45 पहुंच गया था. सिंह का कहना है कि आज दो और बच्चों की डेंगू बुखार से मौत हुई है जिससे जनपद में अब तक डेंगू एवं वायरल बुखार से पीड़ित लोगों का मौत का आंकड़ा आज बृहस्पतिवार दोपहर तक 47 तक पहुंच गया है Also Read - Dengue And Viral in UP: यूपी में वायरल बुखार और डेंगू का कहर जारी, 60 नए मरीज आए सामने, कई लोगों की हुई मौत

स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ साथ 18 सदस्यीय चिकित्सकीय टीम एवं 11 सदस्यीय आईसीएमआर की टीम ने पीड़ित इलाकों में चिकित्सा सुविधा के साथ-साथ बुखार के कारणों का भी पता लगाने का काम शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में आईसीएमआर की टीम ने विभिन्न क्षेत्रों से लारवा एकत्रित किए हैं जिनकी जांच की जा रही है, अभी तक आईसीएमआर की टीम की रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई है. Also Read - Dengue And Viral in UP: फिरोजाबाद, कानपुर, गाजियाबाद, आगरा में डेंगू और वायरल का कहर, जानें किस जिले में कितने मामले

टीम के सदस्य क्षेत्र में घूम कर बुखार से पीड़ित लोगों से बातचीत कर रही है और उनके लक्षणों के आधार पर उनके नमूले लेकर कर उसके कारणों का भी पता लगा रही है. बृहस्पतिवार देर शाम जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने डेंगू एवं वायरल बुखार के बढ़ते प्रकोप में लापरवाही के चलते तीन चिकित्सकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया हैं .

जिलाधिकारी कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि चिकित्सक गिरीश श्रीवास्तव प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सैलई, डॉक्टर सौरव एवं पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट डॉक्टर रुचि यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है . जिलाधिकारी ने यह भी चेतावनी दी है कि यदि चिकित्सा कार्य में किसी भी प्रकार का की लापरवाही पायी गयी तो सख्त कार्रवाई की जाएगी.

दूसरी तरफ सदर विधायक मनीष असीजा ने दावा किया हैं कि उनके द्वारा जो सूचना एकत्रित की जा रही है और अब तक मौत का आंकड़ा 61 है. विधायक के अनुसार वह लगातार क्षेत्र में घूम कर पीड़ित परिवारों से मिल रहे हैं और उनके परिवार में हुई मौतों की जानकारी जुटा रहे हैं. बुधवार को फिरोजाबाद मेडिकल कालेज की प्रधानाचार्य डा संगीता अनेजा ने बताया था कि 41 लोगों की वायरल एवं डेंगू बुखार से मौत हो चुकी है, जिसमें 36 लोग शहर के हैं जबकि पांच ग्रामीण क्षेत्र से हैं .

गौरतलब हैं कि पिछले लगभग दो सप्ताह से फिरोजाबाद में वायरल बुखार का तेजी से फैलता संक्रमण धीरे-धीरे डेंगू में परिवर्तित हुआ और पिछले एक सप्ताह में डेंगू का प्रकोप जनपद के शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक में फैला. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 30 अगस्त को फिरोजाबाद पहुंचे थे और बीमारी से पीड़ित लोगों का हाल जानने के साथ-साथ इसे नियंत्रित करने के निर्देश दिए थे.

(इनपुट भाषा)