नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार इजापा हो रहा है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी संक्रमण के मामलों में काफी तेजी देखने को मिल रही है. इस बाबत गाजियाबाद प्रशासन की तरफ से एक बड़ा फैसला लिया गया है. सोमवार के दिन जिलाधिकारी के आदेश पर गाजियाबाद-दिल्ली के बॉर्डर को सील कर दिया गया. इस बाबत गाजियाबाद के जिलाधिकारी ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है. बता दें कि अब गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर को पा सिर्फ वही लोग कर सकेंगे जिनके बाद प्रवेश की इजाजत या फिर पास होगा या वो लोग ही प्रवेश कर पाएंगे जो जरूरी सेवाओं से जुड़े होंगे.Also Read - Haryana में छूट के साथ 10 फरवरी तक बढ़ाई गईं कोरोना पाबंदियां, अब इस समय तक खुल सकेंगी दुकानें

बता दें कि गाजियाबाद में कोरोना के अबतक कुल 230 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं. वहीं जिले में अबतक दो कोरोना संक्रमितों की मौत भी हो चुकी है. बता दें कि ज्यादातर मामले बीते 1 हफ्तों में देखने को मिले हैं, जब दिल्ली में लॉकडाउन में ढील दी गई है. गौरतलब है कि इससे पहले नोएडा प्रशासन ने दिल्ली से सटे बॉर्डरों को बंद कर दिया है. लेकिन यहां दिल्ली के ओर के बॉर्डरों को खुला रखा गया है. बावजूद इसके नोएडा प्रशासन ने अपने बॉर्डरों के बंद कर रखा है. Also Read - Maharashtra News: महाराष्ट्र में कब खुलेंगे पर्यटन स्थल? मंत्री आदित्य ठाकरे ने दिया बड़ा अपडेट

बता दें कि दिल्ली में लॉकडाउन में ढील दिए जाने के बाद से ही कोरोना वायरस के मामलों में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है. इस बात को खुद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी स्वीकार कर चुके हैं. दिल्ली में लॉकडाउन में ढील दिए जाने के कारण लोगों का एक स्थान से दूसरे स्थान पर आना जाना काफी बढ़ गया है. ऐसे में कोरोना के मामले में बढ़ती तेजी के कारण गाजियाबाद और नोएडा प्रशासन की तरफ से बॉर्डरों को सील करने का फैसला लिया गया है. Also Read - UP Election 2022: अमित शाह की जाट नेताओं से मीटिंग, BJP सांसद के प्रस्‍ताव पर जयंत चौधरी ने दिया जवाब