नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने आईएसआईएस मॉड्यूल में गिरफ्तार 10 आरोपियों को गुरुवार को 12 दिन के लिए एनआईए हिरासत में भेज दिया. इससे एक दिन पहले एनआईए ने आईएसआईएस से प्रेरित आतंकी मॉड्यूल के सदस्य होने के संदेह में बुधवार को इन 10 लोगों को गिरफ्तार किया था. इन लोगों पर राजनीतिक हस्तियों और दिल्ली में सरकारी प्रतिष्ठानों सहित उत्तर भारत के कई अन्य हिस्सों में हमले की साजिश रचने का आरोप है.

ISIS के नए मॉड्यूल का हुआ खुलासा, निशाने पर था RSS कार्यालय और दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर

मामले में बंद कमरे में सुनवाई 
इन आरोपियों को कड़ी सुरक्षा के बीच और ढके हुए चेहरों के साथ अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अजय पांडे की अदालत में पेश किया गया. न्यायाधीश ने मामले में बंद कमरे में सुनवाई का आदेश दिया. एनआईए ने राष्ट्रीय राजधानी और उत्तर प्रदेश के विभिन्न भागों से गिरफ्तार किए गए 10 आरोपियों को पूछताछ के लिए 15 दिन की हिरासत में दिए जाने का अनुरोध किया था.

ये हैं आरोपी 
मामले में गिरफ्तार किए गए लोगों में मुफ्ती मोहम्मद सुहैल उर्फ हजरत (29), अनास युनूस (24), राशिद जफर रक उर्फ जफर (23), सईद उर्फ सैयद (28), सईद का भाई रईस अहमद, जुबैर मलिक (20), जुबैर का भाई जैद (22), साकिब इफ्तेकार (26), मोहम्मद इरशाद (करीब 20 साल) और मोहम्मद आजम (35) शामिल हैं.

यूपी और दिल्ली और यूपी के 11 स्थानों पर छापे मारे गए थे
एनआईए ने दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ, उत्तर प्रदेश के आतंकवाद निरोधक दस्ते के समन्वय से जाफराबाद के छह स्थानों, दिल्ली के सीलमपुर और उत्तर प्रदेश के 11 स्थानों- अमरोहा में छह, लखनऊ में दो, हापुड़ में दो और मेरठ में दो स्थानों पर छापे की कार्रवाई के बाद इन लोगों को गिरफ्तार किया था.

एक मुफ्ती भी आरोपी
26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोहों से पहले ये छापेमारियां की गई हैं, जिसमें अमरोहा के एक मुफ्ती को भी गिरफ्तार किया गया है.

हरकत उल हर्ब ए इस्लाम समूह का ग्रुप
एनआईए के अनुसार छापेमारी के दौरान देशी रॉकेट लांचर, आत्मघाती जैकेट का सामान और टाइम बम बनाने में प्रयुक्त होने वाली 112 अलार्म घड़ियां मिली हैं. जांच एजेंसी ने शुरूआत में हरकत उल हर्ब ए इस्लाम समूह के 16 लोगों को हिरासत में लिया था. इसका सामान्य अनुवाद इस्लाम के हितों के लिए लड़ाई करना है.

अमरोहा का रहने वाला है मास्टरमाइंड
एजेंसी ने बताया था कि हिरासत में लिए गए 16 लोगों में से बाद में 10 को गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तार लोगों में यूपी के अमरोहा से पांच और सीलमपुर और जाफराबाद से पांच लोग शामिल हैं. एनआईए ने बुधवार को बताया था कि गिरफ्तार किए गए लोगों में मास्टर माइंड 29 वर्षीय मुफ्ती मोहम्मद सुहैल भी शामिल है. वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अमरोहा का रहने वाला है. इसके अलावा नोएडा के एक निजी विश्वविद्यालय में पढ़ने वाला इंजीनियरिंग का छात्र, दिल्ली विश्वविद्यालय में स्नातक के तीसरे वर्ष का छात्र और दो वेल्डर भी गिरफ्तार किए गए हैं.