Dengue And Viral in UP: उत्तर प्रदेश में कोरोना की जंग तो जीत ली गई है लेकिन डेंगू और वायरल बुखार की एक नई जंग शुरू हो चुकी है. दरअसल राज्य के अलग अलग जिलों से डेंगू और वायरल बुखार के कई मामले सामने आ रहे हैं जो राज्य सरकार के लिए चिंता का विषय बन चुका है. सेंट्रल यूपी, बुंदेलखंड, पश्चिमी यूपी के क्षेत्रों में यह कहर बनकर टूटा है. बुधवार के दिन इस कारण 8 मरीजों की जान चली गई है. इसमें फर्रुखाबाद में तीन और कानपुर में 3 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 60 नए लोग डेंगू से पीड़ित पाई गई है.Also Read - UP Dengue And Fever: यूपी में डेंगू-फीवर का कहर, 24 घंटे में 22 लोगों की मौत, एटा और मैनपुरी की हालत खराब

डेंगू का कहर Also Read - Tarzan of India: सोशल मीडिया पर छाया 17 साल से जंगल में रह रहा यह शख्स

फर्रुखाबाद, कानपुर, उन्नाव सभी स्थानों पर डेंगू अपना कहर दिखा रहा है. उन्नाव में बुधवार के दिन 30 लोग पीड़ित पाए गए हैं. यहां इनका इलाज जारी है. वहीं स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा यूपी के सभी जिलों पर नजर रखी जा रही है. अधिक से अधिक बुखार व डेंगू पीड़ितों की जांच की जा रही है. उन्नाव के जिला अस्पताल में लगभग 678 लोग ओपीडी में डेंगू व वायरल बुखार के कारण पहुंचे. इनमें से अधिकतर लोग बुखार से पीड़ित मिले हैं. वहीं रैपिड टेस्ट में 14 लोग डेंगू पॉजिटिव पाए गए हैं. Also Read - 24 बीयर पीकर शख्स बना रहा था संबंध, कुछ ऐसा हुआ कि गर्लफ्रेंड की चली गई जान

फिरोजाबाद में मामले
फिरोजाबाद में बीते 24 घंटे में 15 और मरीजों की मौत हो घई है. वहीं इस कारण डेंगू और वायरल बुखार से मरने वालों की संख्या 150 पहुंच चुकी है. बता दें कि मंगलवार के दिन तक मेडिकल कॉलेज के डेंगू वार्ड में मरीजों की संख्या 465 बताई गई थी. इनमें अधिकतर बच्चे हैं.

कानपुर में भी डेंगू का कहर
कानपुर जिले के सीएमएस डॉ. अनिल निगम ने बताया कि उर्सला अस्पताल की ओपीडी में रोजाना बुखार के 75-100 मरीज सामने आ रहे हैं. बता दें कि बीते दिनों जिले में बुखार के दो और रोगियों की मौत हो गई.

गाजियाबाद में डेंगू
गाजियाबाद के सीएमओं डॉ. भवतोष शंखधर की मानें तो फिलहाल जिले में डेंगू के 21 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से एक मरीज जिला अस्पताल व बाकी निजी अस्पताल में भर्ती हैं. बता दें कि रोजाना औसतन 5 प्रतिशतन मामले सामने आ रहे हैं.

अगरा में डेंगू का कहर
मंगलवार के दिन आगरा जिले में डेंगू के कुल 35 मामले सामने आए थे. इनमें से 14 मामले अब भी सक्रिय है. डेंगू के रोकथाम के लिए प्रतिदिन फॉगिंग की जा रही है. छिड़काव किया जा रहा है.