लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने देवरिया कांड को लेकर योगी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट किया कि बिहार के बाद अब यूपी के देवरिया में स्थगित मान्यता वाले नारी संरक्षण केंद्र से भी यौनाचार की ख़बर ने साबित कर दिया है कि सत्ताधारियों के लिए नारी सुरक्षा का विषय सिर्फ़ प्रचार का विषय है. सत्ताधारियों को बताना ही होगा कि जहां-जहां उनकी (बीजेपी) सरकारें हैं, वहां-वहां ऐसा क्यों हो रहा है.

 

यूपी में देवरिया कांड के बाद सियासत तेज हो गई है. यूपी कांग्रेस ने जहां योगी सरकार का इस्‍तीफा मांगा है, वहीं बसपा और सपा ने भी तीखा हमला बोला है. समाजवादी पाटी के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि देवरिया कांड बहुत ही शर्मनाक और निंदनीय है. इसके आपराधिक दोष से भाजपा सरकार बच नहीं सकती. बड़े अफसरों को पता था कि नारी संरक्षण गृह अवैध रूप से चल रहा है, पर उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की. कहा कि देवरिया की घटना बिहार के मुजफ्फरपुर से भी बड़ी है.

RLD ने देवरिया कांड के लिए योगी सरकार को ठहराया जिम्‍मेदार, ‘मामले की हो CBI जांच’

भाकपा ने सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में सीबीआई जांच की मांग की
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने देवरिया के बालिका संरक्षण गृह में अबोध बालिकाओं के साथ कथित अत्याचार और यौन शोषण पर गहरा रोष प्रकट करते हुए इस जघन्य कांड के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. पार्टी ने मांग की है कि घटना की जांच सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में सीबीआई द्वारा कराई जानी चा हिये. भाकपा के राज्य सचिव डा. गिरीश ने कहा कि जिले के अधिकारियों पर इस ‘महापाप’ की जिम्मेदारी डालकर राज्य सरकार अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकती.