लखनऊ: भाजपा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का वादा कर सत्ता में आई, लेकिन भाजपा नेता व उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि जब श्री राम जी चाहेंगे, तब अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो जाएगा. उपमुख्यमंत्री कैसरगंज से विधायक व कैबिनेट मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा के पौत्र के मुंडन संस्कार में शामिल होने पहुंचे थे.Also Read - MP में कांग्रेस को बड़ा झटका, विधायक सचिन बिरला ने लोकसभा उपचुनाव के बीच में बीजेपी ज्‍वाइन की

Also Read - यूपी: किसानों ने पूछा- हमें खाद क्यों नहीं मिल रही, मंत्री बोले- वोट देना हो तो दो, वर्ना...

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद: सुप्रीम कोर्ट का जल्द सुनवाई से इंकार Also Read - महाराष्ट्र के मंत्री ने कही चौंकाने वाली बात, Shahrukh Khan अगर BJP में शामिल हो जाएं तो ड्रग्स...

बहराइच के लोक निर्माण विभाग के डाक बंगले पर हुई पत्रकार वार्ता में उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने राम मंदिर मसले पर किए गए सवाल पर कहा कि बिना भगवान की इच्छा के कोई कार्य नहीं होता. जब राम चाहेंगे तब मंदिर बन जाएगा. हमारी सरकार रामराज्य व रामकाज के लिए ही कार्य कर रही है. कहा कि राम मंदिर पर भाजपा ने संकल्प पत्र में अपना मत व्यक्त कर दिया है. राम राज्य को सत्य पर चलने का सही मार्ग बताते हुए शर्मा ने कहा कि भाजपा राम राज्य की परिकल्पना को लेकर गरीबों और पिछड़ों को जोड़ने का काम कर रही है.

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: योगी का हमला, ‘राम मंदिर व सूरजकुंड निर्माण में कांग्रेस बाधा’

सिर्फ सीएम व प्रदेश अध्यक्ष का बयान पार्टी का

उन्होंने कहा कि इसी कड़ी में प्रधानमंत्री ने पिछड़ा वर्ग आयोग बनाया, 59 मिनट में एक करोड़ रूपये का ऋण मिलने की व्यवस्था की, गरीबों के लिये जनधन खाते, मुफ्त बिजली तथा गैस कनेक्शन का इंतजाम किया. इसके अलावा जिले की भाजपा सांसद सावित्री फुले के अयोध्या में बुद्ध की मूर्ति स्थापित करने के बयान पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी पार्टी में सिर्फ सीएम व प्रदेश अध्यक्ष जो कहते हैं, वही पार्टी की लाइन होती है. बाकी लोग क्या कहते हैं, यह कोई मायने नहीं रखता.

अयोध्‍या में धर्म सभा की तैयारी को लेकर विहिप-संघ परिवार सक्रिय, 25 नवम्बर को है आयोजन

सरकार नकल विहीन परीक्षाएं कराने के लिए कटिबद्ध

शर्मा ने आगे कहा कि हमारी सरकार नकल विहीन परीक्षाएं कराने के लिए कटिबद्ध है. आगामी बोर्ड परीक्षा को हम सबसे कम समय में कराने जा रहे हैं. इससे इस पर होने वाले भारी भरकम खर्च पर भी रोक लग सकेगी. परीक्षा केंद्रों को बदलने के लिए किसी भी प्रकार की सिफारिश बर्दाश्त नहीं की जाएगी. (इनपुट एजेंसी)