नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का परिवार मजदूरों की मदद करने निकला है. अखिलेश यादव की पत्नी पूर्व सांसद डिंपल यादव और बेटी टीना मजदूरों को राशन बाँट रही हैं. उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर डिंपल अपनी बेटी टीना के साथ मजदूरों को राशन के पैकेट बाँट रही हैं. मजदूरों को राशन के साथ ही खाने का सामान और पानी भी दे रहे हैं.Also Read - Rohilkhand Opinion Poll: रुहेलखंड में योगी आदित्यनाथ इस मामले में अखिलेश से काफी आगे, ये है यहां की जनता का मूड

ये पहला मौका है जब डिंपल अपनी बेटी टीना के साथ इस तरह लोगों के बीच मदद करने निकली हैं. मास्क और ग्लव्स पहले टीना भी बसों से निकल रहे प्रवासी मजदूरों को रहत सामग्री देते दिख रही हैं. Also Read - Rohilkhand Opinion Poll: रुहेलखंड में कैसा रहेगा जनता का मूड, चुनाव में किसका पलड़ा रहेगा भारी, जानिए

लॉकडाउन के कांग्रेस की सक्रियता के बाद इस बात की लगातार चर्चा थी कि समाजवादी पार्टी और अखिलेश सिर्फ सोशल मीडिया पर है. वह न सड़कों पर न ही सरकार को अव्यवस्थाओं के लिए सरकार को घेर पा रही है. हालाँकि समाजवादी पार्टी का कहना है कि कर्यकर्ता लगातार लोगों के बीच हैं और अब तक हजारों लोगों की मदद कर चुके हैं. कई जगहों पर पार्टी की ओर से खाना बांटा जा रहा है. वहीं, अखिलेश यादव कह चुके हैं कि मजदूर सरकार से मिली मुश्किलें झेल रहे हैं, इसलिए वह मजदूरों की मदद के लिए हर समय तैयार हैं. अखिलेश ने सूटकेश पर लेते बच्चे के परिजनों को एक लाख रुपए देने का ऐलान किया था. Also Read - UP Election 2022: जेल में बंद आज़म खान का नामांकन हुआ, वकील ने दाखिल किया पर्चा

प्रवासी मजदूरों को लेकर मचे बवाल के बीच बीजेपी कह चुकी है कि विपक्ष पूरी तरह से राजनीति कर रहा है. कांग्रेस इसमें सबसे आगे हैं. योगी सरकार कांग्रेस की एक हज़ार बसों को भी वापस कर चुका है. कांग्रेस ने ये बसें प्रवासी मद्ज्दूरों को उनके घरों तक पहुँचाने के लिए मंगाई थी. कई दिनों तक इसे लेकर रस्साकसी चली थी.