नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का परिवार मजदूरों की मदद करने निकला है. अखिलेश यादव की पत्नी पूर्व सांसद डिंपल यादव और बेटी टीना मजदूरों को राशन बाँट रही हैं. उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर डिंपल अपनी बेटी टीना के साथ मजदूरों को राशन के पैकेट बाँट रही हैं. मजदूरों को राशन के साथ ही खाने का सामान और पानी भी दे रहे हैं. Also Read - 'सत्ताधारियों और अपराधियों' की मिलीभगत का खामियाजा कर्तव्यनिष्ठ पुलिसकर्मियों को भुगतना पड़ रहा है' : अखिलेश यादव

ये पहला मौका है जब डिंपल अपनी बेटी टीना के साथ इस तरह लोगों के बीच मदद करने निकली हैं. मास्क और ग्लव्स पहले टीना भी बसों से निकल रहे प्रवासी मजदूरों को रहत सामग्री देते दिख रही हैं. Also Read - Dy SP समेत 8 पुलिस जवानों की शहादत: कांग्रेस, BSP, SP ने UP सरकार पर बोला हमला

लॉकडाउन के कांग्रेस की सक्रियता के बाद इस बात की लगातार चर्चा थी कि समाजवादी पार्टी और अखिलेश सिर्फ सोशल मीडिया पर है. वह न सड़कों पर न ही सरकार को अव्यवस्थाओं के लिए सरकार को घेर पा रही है. हालाँकि समाजवादी पार्टी का कहना है कि कर्यकर्ता लगातार लोगों के बीच हैं और अब तक हजारों लोगों की मदद कर चुके हैं. कई जगहों पर पार्टी की ओर से खाना बांटा जा रहा है. वहीं, अखिलेश यादव कह चुके हैं कि मजदूर सरकार से मिली मुश्किलें झेल रहे हैं, इसलिए वह मजदूरों की मदद के लिए हर समय तैयार हैं. अखिलेश ने सूटकेश पर लेते बच्चे के परिजनों को एक लाख रुपए देने का ऐलान किया था. Also Read - Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan Yojana: घर बैठे ऐसे मिलेगा काम, दिखाने होंगे ये जरूरी कागजात, पढ़ें योजना की सारी डिटेल्स

प्रवासी मजदूरों को लेकर मचे बवाल के बीच बीजेपी कह चुकी है कि विपक्ष पूरी तरह से राजनीति कर रहा है. कांग्रेस इसमें सबसे आगे हैं. योगी सरकार कांग्रेस की एक हज़ार बसों को भी वापस कर चुका है. कांग्रेस ने ये बसें प्रवासी मद्ज्दूरों को उनके घरों तक पहुँचाने के लिए मंगाई थी. कई दिनों तक इसे लेकर रस्साकसी चली थी.