लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अधिकांश जिलों में पिछले 24 घंटों से रुक-रुककर बारिश होने से जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है. इस दौरान कई जिलों में मकानों के ढहने से कई 20 से अधिक लोगों की मौतें हुई है. इस बीच मौसम विभाग ने अगले दो दिनों तक तेज बारिश होने की चेतावनी दी है. वहीं मेरठ में तेज बारिश के चलते चंदसरा स्टेशन के पास अंडरपास में जल भराव के चलते एक स्कूल बस डूब गई हालांकि स्थानीय लोगों ने तत्काल मदद करते हुए बस में फंसे सभी लोगों को सुरक्षित निकाल लिया.

मैनपुरी, मथुरा, बरेली व मुजफ्फरनगर में 11 की मौत
मैनपुरी में रुक-रुककर होती बारिश के बीच करहल और कुसमरा क्षेत्र में दीवार में दबकर तीन बच्चों की मौत हो गई. वहीं, थाना एलाऊ क्षेत्र में बिजली गिरने से एक महिला की मौत हो गई. मथुरा में दीवार ढहने से बुजुर्ग की मौत हो गई. बरेली जिले में दो लोगों की मौत हो गई. छत ढहने से एक बुजुर्ग किसान की मौत हो गई, जबकि एक बच्चा पैर फिसलने से उफनते नाले में बह गया. मुजफ्फरनगर के खतौली की जगत कलोनी में लगे ट्रांसफार्मर के खंभे के तार में उतरे करंट की चपेट में आने से दो किशोर की मौत हो गई.

बिजनौर में खंभा टूटकर गिरा, महिला की मौत
बिजनौर निवासी कुसुम के ऊपर अचानक खंभा टूटकर गिर पड़ा जिससे महिला की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि खंभे की चपेट में आने से एक बच्ची भी घायल हो गई. जालौन के डकोर के कुठौंदा गांव में मकान की कच्ची दीवार ढहने से बुजुर्ग की मौत हो गई. कानपुर देहात में मंगलपुर थाने के पिपरी गांव में जीएमएसजे हाईस्कूल की दीवार गिरने से वृद्घ की मौत हो गई. कानपुर शहर के बर्रा के वरुण विहार में कच्चा मकान ढहने से दो साल के बच्चे की मौत हो गई.

पूरे प्रदेश में हो रही बारिश
उत्‍तर प्रदेश मौसम विभाग के निदेशक जे.पी गुप्ता के अनुसार, पूरे राज्य के अधिकांश जिलों में बारिश का असर दिखाई दे रहा है. कई जगहों से मकान ढहने, दीवार गिरने और जलभराव की समस्या आने से जनजीवन प्रभावित हुआ है. बारिश की वजह से तापमान में गिरावट दर्ज की गयी है. इस बीच रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक बारिश की वजह से रेलगाड़ियों के आवागमन पर भी इसका असर पड़ा है. कई रेलगाड़ियां अपनी नियत समय से काफी देरी से चल रही हैं.