लखनऊ: मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं और विपक्ष के इन मुद्दों पर लगातार भाजपा सरकार को सवालिया घेरे में खड़े करने के क्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि उनकी सरकार जितनी गायों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है, उतनी ही मानव जीवन की सुरक्षा के लिए भी प्रतिबद्ध है. गौरतलब है कि अभी हाल ही में महाराष्ट्र में बीजेपी के सहयोगी दल शिवसेना ने सरकार पर तंज कसते हुए ये आरोप लगाया था कि देश में गायें सुरक्षित हैं जबकि महिलाएं असुरक्षित.

मॉब लिंचिंग पर सरकार सख्त, जीओएम और कमेटी का गठन, 15 दिन में देगी रिपोर्ट

गायों की सुरक्षा के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं
यूपी सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश सरकार मानव जीवन की सुरक्षा के लिए भी उतनी ही प्रतिबद्ध है, जितनी गायों की सुरक्षा के लिए है. गायों की सुरक्षा के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी. सीएम योगी ने स्पष्ट किया कि भीड द्वारा पीट-पीट कर किसी को मारने की घटना राज्य में बर्दाश्त नहीं की जाएगी. सरकार मवेशियों की तस्करी और वध से सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए समान रूप से प्रतिबद्ध है.

मॉब लिंचिंग पर राजस्थान GOVT. के खिलाफ अवमानना रिट, सुप्रीम कोर्ट में 28 अगस्त को सुनवाई

भीड द्वारा किसी को पीट-पीट कर मारे जाने की हाल की घटनाओं को लेकर चल रही खबरों के बीच योगी ने मीडिया से कहा कि उत्तर प्रदेश में अब तक ऐसी किसी घटना की खबर नहीं है लेकिन जहां कहीं भी ऐसा हो रहा है, उन्हें रोका जाना चाहिए. हालांकि गायों की तस्करी और वध भी रोका जाना चाहिए. सीएम योगी का कहना है कि गाय हमारी हिंदू आस्था का प्रतीक है व शास्त्रों में उसे माता का दर्जा प्राप्त है.

आवारा पशु बीजेपी के सत्ता में आने से पहले भी थे
उन्होंने कहा, किसी भी हालत में हम किसी को गाय की तस्करी और वध नहीं करने देंगे. हर किसी की आस्था का सम्मान होना चाहिए. सीएम योगी ने इस आरोप से इनकार किया कि आवारा पशु किसानों के लिए दिक्कत पैदा कर रहे हैं. उन्होंने कहा, आवारा पशु हमारे सत्ता में आने से पहले भी थे. वस्तुत: हमारी सरकार ने राज्य के हर जिले में गौशालाएं बनवाई. गौरतलब है कि मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की यह टिप्पणी 28 वर्षीय रकबर खान की मौत के परिप्रेक्ष्य में आई है. राजस्थान के अलवर में भीड़ ने उस पर इस आशंका के चलते हमला कर दिया था कि वह गायों की तस्करी कर रहा है.

जैसे जैसे पीएम मोदी की लोकप्रियता बढ़ेगी, वैसे वैसे मॉब लिंचिंग की घटनाएं बढ़ती जाएंगी- केंद्रीय मंत्री

मॉब लिंचिंग की घटनाओं की रोकथाम के लिए केन्द्र ने जारी की एडवाइजरी
मॉब लिंचिंग की घटनाओं को रोकने के लिए केन्द्र सरकार ने भी एडवाइजरी (परामर्श) भेजकर कहा है कि, राज्यों को ऐसी घटनाओं के प्रति समुचित उपाय करने की आवश्यकता है. गाय की तस्करी की आशंका में अलवर में एक व्यक्ति की हत्या की ताजा घटना ने जहां राजनीतिक माहौल गरमा दिया है. वहीँ भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने ऐसे मुद्दे उठाने वालों को पाखंडी बताते हुए कहा कि वे 1984 के सिख विरोधी दंगे और 2002 में कारसेवकों की कथित हत्या की घटनाओं को भूल गए हैं.