भदोहीः भदोही की एक अदालत ने करीब साढ़े तीन साल पहले मानव रहित क्रॉसिंग पर ट्रेन और स्कूल वैन की टक्कर में आठ बच्चों की मौत के मामले में दोषी चालक को शनिवार को 10 साल की कैद और जुर्माने की सजा सुनायी.Also Read - Chhattisgarh: महासमुंद के ब्रिकोनी औद्योगिक क्षेत्र में ऑयल फैक्‍ट्री में ब्‍लास्‍ट, 4 श्रमिक घायल

अभियोजन पक्ष के अनुसार जिले के घोसिया स्थित टेंडर हार्ट स्कूल की वैन 25 जुलाई 2016 को बच्चों को स्कूल ले जा रही थी. रास्‍ते में औराई के कैयरमऊ स्थित रेलवे क्रॉसिंग पर इलाहाबाद-वाराणसी पैसेंजर से उसकी टक्‍कर हुयी. भीषण टक्कर में आठ बच्चों की मौत हो गयी थी जबकि 14 अन्‍य घायल हो गए थे. Also Read - केरल और महाराष्ट्र से कर्नाटक आने वाले सभी यात्र‍ियों के लिए RT-PCR की निगेटिव जांच रिपोर्ट जरूरी: SW Railway

हादसे के वक़्त वैन चालक राशिद खान इयरफोन लगाकर गाने सुन रहा था और ट्रेन को आते देख वह गाड़ी से कूदकर भाग गया था. इस मामले में पुलिस ने राशिद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया था. Also Read - UP: जज की कार को टक्‍कर मारने के केस में ड्राइवर हिरासत में, घायल हुए एडीजी ने जान लेने की कोशिश का आरोप लगाया

अभियोजन पक्ष के वकील प्रवेश तिवारी के मुताबिक फ़ास्ट ट्रैक अदालत के न्‍यायाधीश आनंद कुमार ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद राशिद को दोषी पाते हुए उसे दस साल की कैद और एक लाख रुपया जुर्माने की सजा सुनायी.