नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जमीन हथियाने के विभिन्न मामलों में समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता आजम खान के खिलाफ धनशोधन का मामला दर्ज किया है. अधिकारियों ने गुरवार को बताया कि जांच एजेंसी ने सपा के सांसद के खिलाफ अपनी प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट (ईसीआईआर) दर्ज करने के लिए उनके विरुद्ध उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा दर्ज की गई कम से कम 26 प्राथमिकियों का संज्ञान लिया है. ईसीआईआर पुलिस प्राथमिकी के समतुल्य ईडी का कदम है.

अधिकारियों के मुताबिक खान एवं अन्य के खिलाफ धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) की धाराएं लगाई गई हैं. उन पर जबरन वसूली की धमकी देकर जमीन हथियाने का आरोप है. प्रवर्तन निदेशालय इस बात की जांच करेगा कि कथित रूप से जमीन हथियाने और जबरन वसूली के अपराधों का धन खान एवं अन्य ने निजी संपत्तियां बनाने के लिए इस्तेमाल तो नहीं किया, जिन्हें पीएमएलए के तहत कुर्क किया जा सकता है और उनपर अभियोजन चलाया जा सकता है.

उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री खान मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के लिए जमीन हथियाने के सिलसिले में दर्ज की गई एफआईआर में नामजद हैं. खान इस विश्वविद्यालय के संस्थापक और चांसलर हैं. सपा ने आरोप लगाया था कि यह कदम खान और विश्वविद्यालय को बदनाम करने की रामपुर के जिलाधिकारी की साजिश है. बता दें कि रामपुर के जिला प्रशासन ने हाल ही में खान का नाम भूमाफियाओं की ऑनलाइन सूची में भी डाल दिया है.