एटा: उत्तर प्रदेश के एटा जिले में एक धार्मिक समारोह के दौरान चली गोली से एक नाबालिग की मौत हो गई. हादसे का शिकार मारा गया 14 वर्षीय किशोर मध्यरात्रि के दौरान हो रही भागवत कथा के लिए एकत्र हुई भीड़ का हिस्सा था. प्राप्त सूचना के मुताबिक मंच पर कंस को मारने का दृश्य चल रहा था कि तभी कंस को मारने के लिए चलाई गई गोली नाबालिग को लग गई और उसकी मौके पर ही मौत हो गई.Also Read - Punjab Crime: मोहाली में दिनदहाड़े यूथ अकाली दल के राष्ट्रीय महासचिव की गोली मारकर हत्या, फैली दहशत

Also Read - देसी कट्टा लेकर दोस्तों के साथ बना रहा था टिक-टॉक वीडियो, अचानक चली गोली और फिर...

Also Read - पूर्व RJD सांसद शहाबुद्दीन के भतीजे की गोली मारकर हत्या, सीवान में हिंसक प्रदर्शन

आयोजक फरार, कथा वाचक गिरफ्तार

घटना की सूचना पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भदुइया मठ गांव में पहुंचे. एक अधिकारी ने बताया अब तक की जांच में ये सामने आया है कि भागवत कथा के मंचन के दौरान मंडली ने यह तय किया था कि मंदिर जहां समारोह हो रहा था उसके पास एक पेड़ पर लटकाए गए कंस के पुतले को गोली मारी जाएगी लेकिन वह गोली वहां दर्शक-दीर्घा में बैठे 14 वर्षीय किशोर प्रदीप के सीने के आर-पार  हो गई. इसके बाद आनन-फानन में प्रदीप को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. बच्चे की मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने कथा वाचक को बंधक बना लिया.

7 वर्षीय बच्चे के साथ ट्यूशन टीचर की बर्बरता- चप्पल से पीटता था, दांत से काटता था, CCTV में कैद हुई हरकत

ग्रामीणों ने बताया कि लाइसेंसी बंदूक गांव के ही जुगेंद्र सिह की है जो घटना के बाद से ही फरार है. अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि गोली चलाने वाले की तलाश की जा रही है. साथ ही बंदूक बरामद करने के भी प्रयास किए जा रहे हैं. एक ग्रामीण के मुताबिक जोगराज सिंह ने कंस वध के समय बंदूक से गोली चलाई उसके बाद कथा वाचक बबलू शास्त्री ने भी बंदूक से फायरिंग की जो किशोर को लग गई. घटना के बाद आयोजक जोगराज अपने साथियों के साथ फरार हो गया. आक्रोशित ग्रामीणों ने कथावाचक बबलू शास्त्री को बंधक बना लिया. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) संजय कुमार ने बताया कि मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.(इनपुट  एजेंसी)

युवक ने ममेरी बहन से कहा- मुझसे शादी करोगी, इनकार करने पर जिंदा जलाया