लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत इटावा जनपद को ISO:9001:2015 प्रमाण-पत्र प्रदान किए जाने पर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. को बधाई दी है. इटावा की जिलाधिकारी ने सोमवार शाम शास्त्री भवन में मुख्यमंत्री से भेंट कर उन्हें प्रमाण-पत्र सौंपा. इटावा स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत यह प्रमाण-पत्र प्राप्त करने वाला देश का पहला जनपद है.

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत को स्वस्थ राष्ट्र बनाने में स्वच्छता का महत्वपूर्ण योगदान है. स्वच्छता हासिल करने में
स्वच्छ भारत मिशन अत्यन्त प्रभावी है. प्रदेश के अन्य जनपदों को इटावा का मॉडल अपनाना चाहिए, ताकि वे भी स्वच्छता के लक्ष्य को हासिल कर सकें.

योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा साल 2014 में लागू किए गए स्वच्छ भारत मिशन के सुखद परिणाम सामने आने लगे हैं.

सीएम योगी ने कहा कि स्वच्छता मानव स्वास्थ्य के लिए अत्यन्त आवश्यक है. वातावरण स्वच्छ होने से संक्रामक रोगों के फैलाव पर लगाम लगती है. यही कारण है कि इस साल पूर्वांचल क्षेत्र में इंसेफेलाइटिस पर प्रभावी अंकुश लगाया जा सका है. वहां इस वर्ष बहुत कम संख्या में इंसेफेलाइटिस के मरीज अस्पताल पहुंचे. इंसेफेलाइटिस पर प्रभावी नियंत्रण में स्वच्छता की बहुत बड़ी भूमिका है.