लखनऊ: अनुसूचित जाति/जनजाति आयोग के चेयरमैन और बीजेपी सांसद रामशंकर कठेरिया ने गुरुवार को इटावा में अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत की. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि 2009 में जब वह आगरा से सांसद बने थे, तब बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने उन पर 29 मुकदमे लादे थे. उन्होंने आरोप लगाया कि बीएसपी सुप्रीमो ने उन्हें जेल भेजने की पूरी तैयारी की थी लेकिन वह ऐसा नहीं कर सकी और वे लड़ते रहे. इस दौरान उन्‍होंने चेतावनी दी कि आज हमारी सरकार केंद्र और राज्य दोनों जगह है, इसलिए अब अगर कोई भी हम पर उंगली उठाएगा, तो उस उंगली को तोड़ दिया जाएगा.

 

बता दें कि रामशंकर कठेरिया आगरा से सांसद हैं, लेकिन भाजपा ने उन्‍हें इस लोकसभा चुनाव में इटावा सीट से उतारा है. गुरुवार को रामशंकर कठेरिया इटावा पहुंचे और कार्यकर्ता सम्‍मेलन में हिस्‍सा लिया. इस दौरान उन्‍होंने बेहद आक्रामक भाषण दे डाला. उन्होंने मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने (मायावती) मेरे खिलाफ कई केस दर्ज कराए, लेकिन मैं लड़ता रहा और वह मुझे कभी जेल में नहीं डाल पाई. उन्‍होंने कहा कि वे उनसे (मायावती) डरते नहीं और पूरे जोश और आत्मविश्वास के साथ लड़ते रहे. उन्‍होंने कहा कि मैं वादा करता हूं कि अगर किसी ने हमारे खिलाफ अपनी भौं चढ़ाने की हिम्मत की. तो हम उसी तरह से उसका जवाब देंगे.

भोजपुरी अभिनेताओं के बूते पूर्वांचल-पश्चिम बंगाल के वोटरों को लुभाएगी BJP, बनाया ऐसा प्‍लान

आजम पर भी बरसे कठेरिया
इस दौरान वह यहीं नहीं रूके उन्होंने समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि आजम खान दिमाग से नहीं बोलते हैं. वह कब क्या बोल जाएं, उन्हें खुद पता नहीं रहा, इसीलिए अब उन्हें कोई नहीं सुनता है. कठेरिया ने बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के गठबंधन को “स्वार्थ का बंधन” (आत्म-केंद्रित गठबंधन) के रूप में करार दिया. इस दौरान कठेरिया ने अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों से राज्य भर के भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में अपना वोट देने की अपील की और नरेंद्र मोदी को दूसरे कार्यकाल के लिए प्रधानमंत्री बनाने का आग्रह किया.

भोजपुरी सुपरस्टार दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’ ने थामा भगवा झंडा, इस सीट से लड़ सकते हैं चुनाव