UP NEWS UPDATES: कानपुर: यूपी के कानपुर जिले में चकेरी की जेके कॉलोनी इलाके में शनिवार को दिनदहाड़े बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के पूर्व नेता और हिस्ट्रीशीटर नरेंद्र सिंह उर्फ पिंटू सेंगर की चार हथियार बंद लोगो ने गोली मार कर हत्या कर दी. पुलिस ने मुताबिक, सेंगर का बहुत पुराना आपराधिक इतिहास था. उन पर हत्या, हत्या के प्रयास, गैंगस्टर एक्ट ओर गुंडा एक्ट जैसे 28 मामले दर्ज थे. Also Read - Sakhi Yojna for Womens in UP: इस योजना के तहत महिलाओं को हर महीने मिलेंगे 4000 रुपए, जानें इससे जुड़ी खास बातें

बता दें कि सेंगर ने 2010 में पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को तोहफे के रूप में कथित तौर पर तीन एकड़ का चांद पर प्लाट दिया था. इस मामले में उसके खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया था. बाद में सेंगर को पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण बसपा से निकाल दिया गया था. Also Read - Dy SP समेत 8 पुलिस जवानों की शहादत: कांग्रेस, BSP, SP ने UP सरकार पर बोला हमला

सेंगर (46) बसपा के टिकट पर 2007 में कैंट से विधानसभा चुनाव भी लड़े थे. चकेरी के क्षेत्राधिकारी राजकुमार गुप्ता ने बताया कि चकेरी में समाजवादी पार्टी के एक नेता से मिलने गए सेंगर जब वह अपनी कार से उतर रहे थे, तभी मोटरसाईकिल सवार बदमाशों ने उन पर करीब से गोली मार दी. उनके अनुसार सेंगर को तुरंत रीजेंसी अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत्यु घोषित कर दिया.


गुप्ता ने बताया कि हत्या के कारणों का अभी तक पता नही चल सका है और हत्यारों की तलाश की जा रही है. उन्होंने कहा कि सेंगर प्रापर्टी खरीद फरोख्त का काम भी करते थे इसलिए हो सकता है इस कारण हमला किया गया हो.

एडीजी कानपुर जेएन सिंह ने बताया कि सेंगर का बहुत पुराना आपराधिक इतिहास था. उन पर हत्या, हत्या के प्रयास, गैंगस्टर एक्ट ओर गुंडा एक्ट जैसे 28 मामले दर्ज थे. उन्होंने बताया कि सेंगर ने 2010 में पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को तोहफे के रूप में कथित तौर पर तीन एकड़ का चांद पर प्लाट दिया था. इस मामले में उसके खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया था. बाद में सेंगर को पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण बसपा से निकाल दिया गया था.