नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के रायबरेली में न्यू फरक्का एक्सप्रेस ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने पर बुधवार को दुख प्रकट किया और उम्मीद जताई कि राहत एवं बचाव कार्य में सरकार के स्तर से कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी. Also Read - राहुल गांधी का 'मन की बात' पर निशाना, कहा- पीएम मोदी किसानों की बात करते तो बेहतर होता

Also Read - भाजपा-संघ की सोच के अनुसार दलितों-आदिवासियों नहीं मिलनी चाहिए शिक्षा: राहुल गांधी

न्यू फरक्का एक्सप्रेस रायबरेली के पास पटरी से उतरी, आतंकी साजिश की आशंका, 7 की मौत, कई घायल Also Read - किसान आंदोलन पर राहुल गांधी ने कहा- जब तक कृषि कानून वापस नहीं लिए जाते, तब तक जारी रहेगी लड़ाई

गांधी ने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘न्यू फरक्का एक्सप्रेस के पटरी से उतर जाने की वजह से जो हादसा हुआ है उससे मैं काफ़ी चिंतित और दुःखी हूँ. जिन परिवारों ने अपनों को खोया है, मेरी शोक, संवेदना और प्रार्थना उनके साथ है.’

उन्होंने कहा, ‘ आशा है सरकार राहत और बचाव कार्य में अपनी सारी ताक़त झोंक देगी और लोगों को स्वास्थ की सभी सुविधा उनके बिना किसी परेशानी मुहैया कराएगी.’ बता दें कि मालदा टाउन से नई दिल्ली जा रही न्यू फरक्का एक्सप्रेस (14003) के इंजन और नौ डिब्बे बुधवार सुबह उत्तर प्रदेश में रायबरेली के पास पटरी से उतर गए जिसमें कम से कम 7 लोगों की मौत हो गई, जबकि करीब 35 यात्री घायल हो गए. यह दुर्घटना बुधवार सुबह करीब छह बजे रायबरेली के निकट हरचन्दपुर के बाबापुर के करीब हुई. राहत बचाव कार्यों की निगरानी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है.

अधिकारियों के मुताबिक अभी हताहतों की संख्या में इजाफा हो सकता है. उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव सूचना अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये जबकि घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है. NDRF की टीम को तत्काल राहत बचाव कार्यों में लगाया गया है. दुर्घटना के पीछे आतंकी साज़िश का भी अंदेशा जताया जा रहा है.