बरेली. एक तरफ केंद्र सरकार ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ जैसे कार्यक्रम चलाकर समाज में बेटा-बेटी के भेदभाव को कम करने का प्रयास कर रही है. वहीं दूसरी तरफ देश में आज भी कई जगह ऐसे हालात हैं जहां बेटियों के जन्म पर भेदभाव की घटनाएं सामने आती रहती हैं. उत्तर प्रदेश के बरेली में ऐसी ही एक घटना सामने आई है. बरेली में दूसरी बेटी पैदा होने से नाराज होकर एक पिता ने अपनी डेढ़ साल की बड़ी बेटी को छत से फेंक दिया. गंभीर हालत में बच्ची को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि सीबीगंज थाना क्षेत्र के गांव परधौली निवासी अरविंद गंगवार की पत्नी ने पांच दिन पहले बेटी को जन्म दिया था. अरविंद की पहले से ही डेढ़ साल की एक बेटी है. गुरुवार को अरविंद का उसके पिता हरपाल से दूसरी बेटी का नामकरण संस्कार करने को लेकर विवाद हो गया. इसके बाद अरविंद शराब पीकर घर आया और बड़ी बेटी काव्या को उठा कर छत पर ले गया. इसके बाद उसे नीचे फेंक दिया. मौके पर पहुंची पुलिस ने अरविंद को हिरासत में ले लिया. पुलिस ने पूरे दिन तहरीर का इंतजार किया लेकिन परिजनों की तरफ से तहरीर नहीं आई. इसके बाद इलाके के दारोगा जयपाल सिंह की तरफ से अरविंद पर हत्या के प्रयास की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया.

बरेली के एसपी सिटी अभिमन्यु सिंह ने बताया कि दूसरी बेटी पैदा होने पर अपनी डेढ़ साल की मासूम को छत से फेंकने की घटना की जानकारी मिली है. लेकिन आरोपी पिता के खिलाफ परिजनों की तरफ से तहरीर नहीं आई. इस पर इलाके के दारोगा की तरफ से युवक के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के तहत पुलिस ने सीबीगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया है. उसे शुक्रवार को जेल भेज दिया गया.

(इनपुट – एजेंसी)