बहराइच/कानपुर: उत्तर प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से इंसानों के साथ जानवरों का भी बुरा हाल है. कहीं तो जलभराव से बेहाल सांप-बिच्छू भी अपने बिलों से बाहर निकल रहे हैं और इंसानों के लिए खतरा बन रहें हैं, तो कहीं नदी का पानी रिहायशी इलाके में भर जाने से इलाके के लोगो को शहर के बीचोंबीच मछलियां मिल रही हैं. Also Read - UP Govt अब संजीत यादव अपहरण- मर्डर केस की CBI जांच के लिए करेगी सिफारिश

बिल में पानी भरने से अस्पताल में घुसा सांप
बहराइच जिले का एक डराने वाला मामला सामने आया है जहां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक सांप घुस गया. 2011 में बने इस स्वास्थ्य केंद्र में उस समय अफरा-तफरी मच गई जब सामने के गलियारे में ही एक सांप आ गया. दरअसल अस्पताल बनने का काम तो पूरा हो चुका है पर बहुत सारा मलबा और गन्दगी अभी भी स्वास्थ्य केंद्र के पीछे इमरजेंसी और रोगियों के लिए बने रैन बसेरे के पास खुले में पड़ा हुआ है. इसी कूड़े-करकट के ढेर में सांप-बिच्छुओं ने अपने बिल बना लिए हैं. Also Read - लैब टेक्नीशियन की अपहण और मर्डर केस: अपर पुलिस अधीक्षक समेत 4 पुलिस अफसर सस्‍पेंड

सांप के नजर आते ही डॉक्टर और रोगियों में हडकम्प मच गया. प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. अर्चित श्रीवास्तव ने सांप को पकड़कर परिसर से दूर करने के लिए तत्काल संपेरे को बुला लिया जिसने काफी मशक्कत के बाद सांप को पकड़कर अस्पताल परिसर से बाहर किया.

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. अर्चित श्रीवास्तव ने बताया कि परिसर में गन्दगी से विषैले जीव जन्तुओं के आने का खतरा बना रहता है. इसलिए काफी समय से पड़े मलबे को हटाने की कार्रवाई की जा रही है.

जलमग्न हुए घर, सड़कों पर तैर रहीं मछलियां
वहीँ दूसरा मामला कानपुर का है जहां पांडु नदी का पानी तेज बारिश के बाद अब शहर में घुस गया है. आलम ये है कि जलीय जीव-जन्तु भी अब शहर की पानी में डूबी सड़कों पर तैर रहे हैं. लगातार बारिश से पानी का स्तर इतना बढ़ गया है कि आसपास के इलाके जलमग्न हो गये हैं.

पांडु नदी के किनारे बसे इलाकों में बसे लोग तो अपने अपने घरों में ही कैद हो गये हैं. करीब 15 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं. पूरी परिस्थिति को देखते हुए देखते हुए डीएम ने अलर्ट जारी किया है. रविदासपुरम, मायापुरम और वरुण विहार में रहने वाले लोगों के मकानों की निचली मंजिल पूरी तरह जलमग्न हो गई है. कई कच्चे मकान तो पांडु नदी के पानी भरने से ध्वस्तहो गए हैं.