नई दिल्लीः आज उत्तर प्रदेश के एटा जिले से हैरान कर देने वाली घटना सामने आई. राज्य के एटा जिले में रिटायर्ड स्वास्थकर्मी के घर में पांच लोगों की संदिग्ध हालत में मौत हो गई. अभी मौत के कारण का पता नहीं चल सका है. जिन लोगों की मौत हुई उसमें दो बच्चे भी शामिल हैं. यह पूरा मामला एटा के श्रंगार नगर कॉलोनी का है. Also Read - Domestic Airlines Rules and Regulations: विमान यात्रा करने वाले हो जाएं सावधान, राज्यों ने जारी किए ये नियम जो मानने होंगे

घटना का खुलासा तब हुआ जब दूधवाला घर पहुंचा था. दूध वाले ने दूध देने के लिए दरवाजा खटखटाया लेकिन अंदर से कोई आवाज नहीं आई. इसके बाद उसने कुछ देर इंतजार किया लेकिन इसके बावजूद घर के अंदर से कोई नहीं निकला. इसके बाद उसने घर के अंदर झाकने की कोशिश की तो उसे लोगों के शव दिखाई दिए. इसके बाद दूधवाले ने और आस पास के लोगों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी. Also Read - Domestic Airlines Rules and Regulations: विमान यात्राओं को लेकर राज्यों ने जारी किए कई नियम, पालन नहीं करने पर होगी दिक्कत

मृतकों में 78 वर्षीय राजेश्वर प्रसाद पचौरी, उनकी पुत्रवधू दिव्या पचौरी 35 वर्षीय, दिव्या की 24 वर्षीय बहन बुलबुल, दिव्या के दोनों बेटे जिनमे एक की उम्र दस वर्ष थी जबकि एक मात्र एक वर्ष का था. बताया जा रहा है कि मतक राजेश्वर प्रसाद पचौरी पूर्व स्वास्थ कर्मी है. Also Read - उत्तर प्रदेश के प्रवासी कामगारों को राज्य वापस बुलाना चाहते हैं तो हमसे लेनी होगी इजाजत: आदित्यनाथ

राजेश्वर प्रसाद का बेटा दिवाकर घर में नहीं थे क्योकि वह रुड़की में कार्यरत हैं. पुलिस ने घटना स्थल पर फॉरेंसिक डिपार्टमेंट के लोगों को बुलाकर सूबत इकट्टठे किए हैं. पुलिस आस पास के क्षेत्रों में लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है ताकि पता किया जा सके कि क्या इस घटना से पहले कोई घर में आया था. फिलहाल पुलिस मामले की तहकीकात में जुट गई है और अभी कुछ भी बताने से इंकार किया है.