लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा पर निशाना साधा और पीएम केयर्स फंड को जनता केयर फंड बनाने की मांग की है. अखिलेश यादव ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि चुनावी रैली के लिए लाखों एलईडी टीवी लगवाकर अरबों का प्रचार फंड खर्च करने वाली वर्तमान सत्ता के पास क्या शिक्षार्थियों-शिक्षकों के लिए ऑनलाइन शिक्षण के लिए व्यवस्था करने का फंड नहीं है. भाजपा सरकार ईमानदारी से पीएम केयर्स फंड को जनता केयर्स फंड बनाए और देश के भविष्य की चिंता करे. Also Read - Viral Video: महिला ने नहीं पहना मास्क, थूकने की कोशिश की, प्लेन से जबरन उतारा गया...

उन्होंने आगे कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते दौर में शिक्षा की निरंतरता के लिए स्कूल-कॉलेज खोलना सुरक्षित विकल्प नहीं है. ऐसे में सरकार को चाहिए कि वह गरीब परिवार के प्रति विद्यार्थी को एक स्मार्टफोन, नेटवर्क और बिजली उपलब्ध कराए, साथ ही शिक्षकों को भी घरों पर डिजिटल अध्यापन के लिए निशुल्क हार्डवेयर दे. Also Read - Covid 19 in India Update: कोरोना से 24 घंटे में 717 लोगों की मौत, 54 हजार नए मामले आए सामने

अखिलेश ये भी बोले कि, “भाजपा सरकार ने तो अपने 2017 के चुनाव घोषणापत्र में युवाओं को लैपटॉप देने का वादा किया था. सच तो यह है कि ऑनलाइन शिक्षण व्यवस्था भी भाजपा सरकार की भटकाऊ नीति का ही एक अंग है. गांवों में रहने वाले छात्र-छात्राओं को बिजली की किल्लत रहती है, नेटवर्क काम नहीं करता है, गरीब घरों में लैपटॉप, स्मार्टफोन नहीं हैं.” Also Read - Covid-19 Vaccine Update on 21 October 2020: पहले चरण में इन तीन करोड़ लोगों को दी जाएगी कोरोना की वैक्सीन

उन्होने कहा कि लॉकडाउन में रोटी-रोजगार की भी परेशानी बढ़ी है. जिसके दो या तीन बच्चे पढ़ने वाले हैं, वे हरेक के लिए कहां से फोन, लैपटॉप की व्यवस्था कर पाएंगे. भाजपा दिखावे के काम करने में माहिर है, सच्चाई से वह दूर भागती है.