सम्भल: उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले के पेतिया गांव में एक दुखद हादसे में ट्यूबवेल के पूल में बिजली का तार गिरने से उसमें नहा रहे चार बच्चों की करंट लगने से दर्दनाक मौत हो गई. घटना शुक्रवार शाम को हुई. शवों को घंटों बाद उस समय देखा गया, जब एक किसान ट्यूबवेल के पास से गुजरा और बच्चों को अचेत अवस्था में देखा.

वह दौड़कर गांव गया और उनके माता-पिता को सूचना दी, जो मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचित किया. बिजली की आपूर्ति काट दी गई और बच्चों को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. पुलिस अधीक्षक (एसपी) यमुना प्रसाद और सहायक पुलिस अधीक्षक (एएसपी) पंकज पांडे ने कहा कि चार बच्चे, जिनमें से दो भाई-बहन हैं, वे तेजपाल सैनी के ट्यूबवेल पूल में नहाने के लिए गए थे, तभी हादसे का शिकार हो गए. बच्चों की पहचान विष्णु (11), शिवम (7) दोनों भाई, धर्मवीर (11) और गणेश (11) के रूप में की गई है.

हयातनगर स्टेशन हाउस ऑफिसर (एसएचओ) रणवीर सिंह ने कहा, “प्रथम दृष्ट्या यह मामला विद्युत विभाग की ओर से लापरवाही का प्रतीत हो रहा है. पास के ट्रांसफार्मर से जुड़ा एक तार टूटकर ट्यूबवेल के पूल में गिर गया.” एसपी ने कहा कि उन्होंने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जांच कर रहे हैं. उन्होंने कहा, “बिजली विभाग के साथ ग्रामीणों के गुस्से को देखते हुए, हमने इलाके में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस बल तैनात किया है.”

जिला अधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह ने कहा कि उप-विभागीय मजिस्ट्रेट दीपेंद्र यादव की अगुवाई में इस दुखद घटना की जांच हो रही है. जिला अधिकारी ने संवाददाताओं से कहा, “वह तीन दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करेंगे. इसके अलावा, मैंने बिजली विभाग के कार्यकारी अभियंता डी.एस. शर्मा को भी इस संबंध में अपनी रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं.”