लखनऊ: देश भर में हर साल गंगा दशहरा की धूम मची हुई है. गुरुवार सुबह से ही इलाहाबाद, वाराणसी और विंध्‍याचल में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी हूई है. गंगा दहशरा के मौके पर इलाहाबाद के त्रिवेणी संगम में बड़ी संख्‍या में भक्तों ने पवित्र डुबकी लगाई. साथ ही पूजा-पाठ कर मनौतियां भी मांगी. इलाहाबाद में गंगा, यमुना और पवित्र सरस्वती नदी के संगम पर स्नान के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ है.
उधर, हरिद्वार में हरी की पैड़ी पर बड़ी संख्‍या में श्रद्धालुओं ने गंगा स्‍नान कर मनौतियां मांगी. Also Read - Coronavirus: सीएम योगी ने लखनऊ समेत यूपी के ये 15 जिले 'लॉक डाउन' घोषित किए

  Also Read - वाराणसी: भगवान पर भी दिखा कोरोना वायरस का असर, पहनाए गए मास्क

बता दें कि हर साल ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष में आने वाली दशमी को गंगा दशहरा मनाया जाता है. इस दौरान गंगा के घाटों पर हर साल लाखों श्रद्धालु डुबकी लगाते हैं. वाराणसी में गुरुवार सुबह से ही भक्‍तों की भीड़ गंगा घाटों पर देखी जा सकती है. इसके अलावा इलाहाबाद में भी स्नान के लिए प्रदेश और देश के कोने-कोने से बड़ी संख्या में श्रद्धालु इलाहाबाद पहुंच रहे हैं. इलाहाबाद के पवित्र संगम में श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान कर गरीब असहाय लोगों को भोजन कराकर पुण्य अर्जित देश में सुख शांति की कामना की. इसके अलावा श्रद्धालुओं ने बड़े हनुमान जी आदि मंदिरों के दर्शन किए.

Ganga Dussehra 2018: आज गंगा स्नान से मिलेगी 10 पापों से मुक्ति

मलमास में गंगा दशहरा
मलमास में गंगा दशहरा का आना बहुत शुभ होता है. जिस साल मलमास होता है, उस वर्ष मलमास में ही गंगा दशहरा मनाया जाता है. उस साल शुद्धमास में गंगा दशहरा नहीं मनाया जाता. इस दिन पवित्र नदी में स्नान और पूजन करने की परंपरा है.