गाजियाबाद: गाजियाबाद के मसूरी थाना इलाके में डासना फ्लाईओवर के पास एक चार मंजिला बिल्‍डिंग गिरने से दबे लोगों में से एक की मौत हो गई है, जबकि मलबे से निकाले गए 6 लोगों को गंभीर घायल अवस्था में हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. वहीं, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिए हैं कि जो भी इसमें दोषी है, उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए. इसके साथ ही उन्होंने डीएम-एसएसपी को कहा कि वह मौके पर पहुंच हाल जानें. वहीं, एनडीआरएफ के डीजी संजय कुमार ने बताया कि मलबे में तीन और लोग दबे हो सकते हैं. उन्होंने बताया कि अभी रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है.Also Read - आगरा में मृत सफाई कर्मचारी अरुण वाल्मीकि के परिवार से म‍िलीं प्रियंका गांधी, प्रशासन 10 लाख रुपये और एक सदस्य को नौकरी देगा

बता दें कि आज दोपहर गाजियाबाद के डासना फ्लाई ओवर के पास एक पांच मंजिला निर्माणाधीन बिल्डिंग गिर गई. जब ये हादसा हुआ, उस समय बिल्डिंग में काम चल रहा था. बिल्डिंग के मलबे में करीब 10 मजदूरों के दबे होने की आशंका थी. 7 को अब तक निकाल लिया गया, इनमें से एक की मौत हुई है. तीन और मलबे में हो सकते हैं. राहत कार्य के लिए एनडीआरएफ की टीम मौके पर हैं. Also Read - PM मोदी बोले- इन लोगों की पहचान समाजवादी नहीं, परिवारवादी की बन गई, सिर्फ अपने परिवार का भला किया

Also Read - UP: 25 लाख की चोरी के मामले में सफाईकर्मी की हिरासत में मौत पर हंगामा, आगरा जा रहीं प्र‍ियंका गांधी हिरासत में

नोएडा की तरह गाजियाबाद में भी 4 मंजिला निर्माणाधीन बिल्डिंग गिरी, कई दबे

मजदूर कर रहे थे काम, तभी हुआ हादसा

ये बिल्डिंग डासना फ्लाईओवर के पास बन रही थी. मजदूर काम कर रहे थे. इसी दौरान भरभरा कर पूरी बिल्डिंग गिर गई. घटना से हड़कंप मच गया. बताया जा रहा है कि इस बिल्डिंग का निर्माण अवैध तरीके से हो रहा था. नियमों को ताक पर रखकर कई फ्लोर बनाए जा रहे थे. घटिया निर्माण कराने को लेकर बिल्डर के खिलाफ पहले ही शिकायत की गई थी, लेकिन जांच के आदेश के बाद कोई कार्रवाई नहीं की गई थी. यही नहीं तत्कालीन एसएसपी हरि नारायण सिंह ने शिकायत के बाद जांच के आदेश भी दिए थे, फिर भी बिल्डर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई.