गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद के खोड़ा में जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत हो गई है. जहरीली शराब पीने के बाद कई लोगों की हालत बिगड़ गई जिसके बाद इन सभी को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया. ये घटना सोमवार देर रात की है. इस घटना से यहां हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस प्रशासन भी जांच में जुट गया है. वहीं, सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं. Also Read - गाजियाबाद: मोमबत्ती बनाने वाली फैक्ट्री में धमाके के बाद लगी आग, 7 की मौत, कई घायल

पुलिस अधीक्षक (नगर) आकाश तोमर ने आज गाजियाबाद में बताया कि सुभाष पार्क में रहकर दिहाड़ी मजदूर के तौर पर काम करने वाले संदीप (18), अवनेश (29), अशोक (40) और रविंद्र (27) ने सोमवार की रात क्षेत्र में बिक रही शराब पी थी, इसे पीने के बाद चारों की तबीयत बिगड़ गई. उन्होंने बताया कि अवनेश और संदीप को रात में दिल्ली के लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां दोनों ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया. बाद में अशोक और रविंद्र की भी मौत हो गई.  तोमर ने बताया कि जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए हैं. पुलिस ने उस शराब के नमूने भी ले लिए है जो उन्होंने पी थी. उन्होंने कहा कि मजदूरों की मौत जहरीली शराब पीने से ही हुई है, अभी यह कहना जल्दबाजी होगी. बहरहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है.

पुलिस-आबकारी विभाग की मिलीभगत का आरोप

खबरों के मुताबिक, खोड़ा में खास ब्रांड की शराब पीने के बाद कई लोगों ने दर्द की शिकायत की. इसके बाद इन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया. अस्पताल ने अशोक, अविनाश और संदीप को मृत घोषित कर दिया. चौथे व्यक्ति रविंद्र की मौत बाद में हुई. रविंद्र के भाई श्रीनिवास की हालत गम्भीर है. घटना से गुस्साए स्थानीय लोगों ने इसके लिए पुलिस पर उंगली उठाई है, इनका कहना है कि पुलिस और आबकारी विभाग की मिलीभगत से ही ऐसी घटना हुई है. लोगों का कहना है कि इससे पहले भी जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौत हो चुकी है, लेकिन पुलिस कभी किसी दोषी को पकड़ नहीं पाई जो इसकी सप्लाई कर रहा है.

सीएम ने दिए जांच के आदेश

इस बीच, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद में जहरीली शराब से हुई लोगों की मृत्यु की घटना को गम्भीरता से लिया है. उन्होंने मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए घटना की प्रभावी जांच और दोषियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. उधर, खोड़ा क्षेत्र के लोगों ने थाना प्रभारी निरीक्षक ध्रुव भूषण को हटाने की मांग करते हुए जोरदार प्रदर्शन किया. लोगों का आरोप है कि खोड़ा पुलिस और आबकारी विभाग की मिलीभगत से ही क्षेत्र में नकली शराब बेची जा रही है. लोगों ने मृतक परिवार को मुआवजा दिलाने की मांग भी की.