Uttar Pradesh News: प्रदेश के डेढ़ लाख शिक्षामित्रों के दो महीने, नवंबर और दिसंबर का मानदेय राज्य सरकार ने रोककर रखा है और अब धीरे धीरे जनवरी भी समाप्ति की ओर है. ऐसे में शिक्षा मित्रों और उनके परिवार के सामने आर्थिक संकट गहरा गया है. लेकिन, इस बीच खुशखबरी की बात ये है कि इसी हफ्ते उनके बकाये मानदेय का भुगतान जल्द हो सकता है. डीजी स्कूल विजय किरण आनंद ने न्यूज़18 को बताया कि हर हाल में इस हफ्ते शिक्षामित्रों के बकाया मानदेय का भुगतान कर दिया जाएगा. किसी भी सूरत में कोई भी विलंब की संभावना नहीं है.Also Read - Uttar Pradesh News: यूपी पुलिस ने अवैध हथियार बनाने वाली फैक्टरियों का किया पर्दाफाश, दो आरोपी गिरफ्तार

बता दें कि बजट का आवंटन नहीं हो पाने के कारण शिक्षामित्रों को मानदेय नहीं दिया जा सका है. अब बजट से संबंधित फाइल चल रही है और इसके जल्द ही जारी होने की संभावना बढ़ी है. उम्मीद की जा रही है कि इस हफ्ते के आखिर तक हर हाल में बजट जारी हो जायेगा और बकाये मानदेय का भुगतान बेसिक शिक्षा विभाग कर देगा. Also Read - Magh Mela: माघ मेले में ड्यूटी पर तैनात 7 पुलिसकर्मी मिले कोरोना पॉजिटिव, नियमों का सख्ती से कराया जाएगा पालन

बता दें कि मानदेय न मिलने के कारण शिक्षामित्रों का नया साल सूखा-सूखा ही रहा. हालांकि शिक्षामित्रों के नेता अनिल यादव ने कहा है कि उन्होंने कई दिन पहले विभागीय अफसरों से भेंट करके भुगतान की मांग की थी लेकिन, अभी तक सिर्फ उन्हें आश्वासन ही मिला है. Also Read - किसका कटेगा टिकट, किस पर भरोसा? यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर BJP की अहम बैठक, शाह और योगी भी हुए शामिल

उत्तरप्रदेश के प्राइमरी स्कूलों में तैनात डेढ़ लाख शिक्षा मित्रों को 10 हजार रूपये प्रति माह के हिसाब से मानदेय दिया जाता है. इनके मानदेय में 60 फीसदी केन्द्र सरकार और 40 फीसदी राज्य सरकार का अंशदान होता है. इसी वजह से अक्सर बजट जारी होने में दिक्कत होती है और मानदेय का भुगतान लटक जाता है. प्रदेश में दो तरह के शिक्षा मित्र प्राइमरी स्कूलों में तैनात हैं, जिनमें से 1 लाख 35 हजार सर्व शिक्षा अभियान के तहत हैं जबकि लगभग 15 हजार बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत आते हैं.